ताज़ा खबर
 

कक्षा 6 की किताब में मस्जिद को ‘शोर की जगह’ बताए जाने से बवाल, प्रकाशक ने मांगी माफी

लोगों ने किताब वापस लेने की मांग को लेकर अब एक आॅनलाइन याचिका शुरू की है।
किताब में मस्जिद से शोर होता है, ऐसा दर्शाया गया है। (Source: PTI)

आईसीएसई स्कूलों में पढ़ायी जाने वाली एक किताब में एक ‘‘मस्जिद’’ को ध्वनि प्रदूषण के स्रोत के रूप में पेश करने को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों ने गुस्से का इजहार किया जिसके बाद प्रकाशक ने माफी मांगी और चित्र को आगे के संस्करणों से हटाने का वादा किया। सेलिना पब्लिशर्स द्वारा प्रकाशित विज्ञान की पाठ्यपुस्तक में ध्वनि प्रदूषूण के कारणों पर एक अध्याय है। सोशल मीडिया पर फैली तस्वीर में ट्रेन, कार, विमान और एक मस्जिद के साथ तेज ध्वनि को दर्शाने वाले चिह्न हैं जिसके सामने एक एक व्यक्ति दिख रहा है जिसने खीझकर अपने कान बंद कर रखे हैं। सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वाले लोगों ने किताब वापस लेने की मांग को लेकर अब एक आॅनलाइन याचिका शुरू की है। आईसीएसई बोर्ड के अधिकारी टिप्पणी के लिए मौजूद नहीं थे। प्रकाशक ने चित्र के लिए माफी मांगी है।

प्रकाशक हेमंत गुप्ता ने सोशल मीडिया साइटों पर लिखा, ‘‘सभी संबंधित लोगों को बताना चाहता हूं कि हम किताब के आने वाले संस्करणों में चित्र बदल देंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर इससे किसी की भी भावनाएं आहत हुई हों तो हम इसके लिए माफी मांगते हैं।’’ इस साल अप्रैल में हिंदी फिल्मों के गायक सोनू निगम ने यह कहकर विवाद को जन्म दिया था कि उनके घर के पास स्थित मस्जिद की ‘‘अजान’’ की आवाज से उनकी नींद टूट जाती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    manish agrawal
    Jul 2, 2017 at 7:02 pm
    Maszid ki Azaan sirf 5-10minutes ki hoti hai jabki Navratri mai Raat bhar loudspeaker bajaaye jaate hain aur aisa 9-9 days tak saal main 2 baar hota hai ! Mahashivraatri, Krushna-janmastami, Ramnavmi ityaadi mai bhi khoob loudspeaker bajaaye jaate hain ! Ganeshotsav main 14 days tak loudspeaker ki wazah se jindagi jahannum ban jaati hai ! Kabhi AKHAND RAMAYAN main lagaataar 30 hours tak loudspeaker bajaaya jata hai to ShrimadBhagwat ke paath main 8 days tak ! Kabhi Shaadi ya anya shubh avsar par raat bhar MATA KI CHOKI ke naam par D.J. bajaakar sone nahi dete ! Sirf Azaan ke peechhe kyon pade ho ? Noise pollution par totally ban hona chaahiye, chaahe koyi mazhab ho !
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग