ताज़ा खबर
 

T-20 World Cup: डकवर्थ लुइस के जरिए भारत से जीती पाकिस्तान की महिला क्रिकेट टीम

विश्व कप टी20 में शनिवार को भारतीय महिला टीम अपने प्रदर्शन को ऊंचाई नहीं दे पार्इं और पाकिस्तान की महिलाओं ने महत्त्वपूर्ण मुकाबले में उसे दो रन से हरा कर मैच जीत लिया।
Author March 20, 2016 03:44 am
(Pak women cricket team)

विश्व कप टी20 में शनिवार को भारतीय महिला टीम अपने प्रदर्शन को ऊंचाई नहीं दे पार्इं और पाकिस्तान की महिलाओं ने महत्त्वपूर्ण मुकाबले में उसे दो रन से हरा कर मैच जीत लिया। मैच का फैसला डकवर्थ लुइस नियम से हुआ। फीरोज शाह कोटला मैदान पर दोनों टीमों के बीच रोमांचक मुकाबले की उम्मीद थी और जब ऐसा लगने लगा था कि भारतीय टीम हार के जबड़े से जीत को निकाल ले जाएंगीं तभी तेज बारिश ने न सिर्फ बाकी बचा मैच धोया, भारतीय टीम की उम्मीदों को भी धो डाला। पाकिस्तान की विश्व कप में भारत पर यह दूसरी जीत है। दोनों टीमें के बीच अब तक हुए सात मुकाबलों में से भारत की यह दूसरी हार है।

पाकिस्तान ने टास जीता और भारत को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया। लेकिन धीमी पिच पर पाकिस्तान के स्पिनरों ने कमाल की गेंदबाजी की और भारतीय टीम को बड़ा स्कोर खड़ा करने से रोक दिया। भारतीय बल्लेबाजों ने अपने प्रदर्शन से मायूस किया। टाप आर्डर पूरी तरह से फ्लाप रहा। निचले क्रम के बल्लेबाजों ने थोड़ी लप्पेबाजी बाद में की जिससे स्कोर 96 तक पहुंच पाया। नहीं तो पावरप्ले यानी पहले छह ओवर में भारतीय टीम का स्कोर सिर्फ सात रन था और उसने दो विकेट गंवा दिए थे।

लक्ष्य का पीछा पाकिस्तानी टीम ने आराम से किया। लेकिन सोलहवें ओवर में दो रनआउट से मैच भारत के पक्ष में झुकता नजर आने लगा। सोलहवें ओवर पूनम यादव ने फेंका था और दूसरी गेंद पर विकेटकीपर सुषमा वर्मा ने अस्माविया को जीवनदान दिया। उन्होंने स्टंपिंग का आसान मौका गंवाया। लेकिन चौथी व पांचवीं गेंद पर दो रनआउट से पांसा पलटा। पहले अस्माविया को स्मृति मनदाना ने आउट किया और फिर अगली गेंद पर कप्तान सुषमा ने बेहतरीन थ्रो पर सना मीर का डंडा उड़ा कर भारतीय संभावनाओं को बढ़ाया। लेकिन ओवर के खत्म होते ही बारिश विलेन बनी।

खेल जब रुका तो भारत डकवर्थ लुुइस नियम के हिसाब से दो रन पीछे था और इस गणित ने पाकिस्तान को जीत दिला दी। भारत की दो मैचों में पहली हार थी तो पाकिस्तान ने वेस्ट इंडीज के हाथों चार रन की नजदीकी हार के बाद शानदार वापसी की।
भारत और पाकिस्तान के बीच मैच को लेकर कोलकाता में जिस तरह की मारामारी थी, वह भले राजधानी में नहीं रही हो लेकिन फीरोज शाह कोटला पर दोनों देशों की महिलाओं के बीच खेले मैच को लेकर लोगों में कम उत्साह नहीं था। मैदान पर दर्शक भी थे, उत्साह भी था, दोनों टीमों के बीच प्रतिद्वंद्विता भी थी, और पाकिस्तान व भारत के समर्थक भी थे जो अपने-अपने देशके झंडे लहरा कर खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ा रहे थे।
भारत और पाकिस्तान की महिला टीमें पहली बार फीरोज शाह कोटला पर एक-दूसरे के खिलाफ कोई मैच खेल रही थीं। यही वजह है कि क्रिकेट के दर्शक स्टेडियम चले आए। भारत यह मैच अपने बल्लेबाजों के गैर जिम्मेदाराना प्रदर्शन के कारण हारा। वे पाकिस्तान के अनुशासित गेंदबाजी आक्रमण का सामना नहीं कर सके और तेजी से रन भी नहीं बना पाए।
करीब आठ हजार दर्शकों के बीच पाकिस्तान की कप्तान सना मीर ने टास जीता और पहले फील्डिंग का फैसला लिया। गेंदबाजों ने उनके फैसले को सही साबित किया। मिताली राज और वीआर वनिता ने भारतीय पारी की शुरुआत की लेकिन पाकिस्तानी गेंदबाजों ने कसी गेंदबाजी कर भारतीय बल्लेबाजों पर अंकुश लगाए रखा। चौथे ओवर में ही भारत ने पहले वनिता और फिर मनदाना का विकेट गंवा डाला। तब भारत का स्कोर पांच रन था। भारत इस दबाव से उबर नहीं पाया।
हालांकि कप्तान मिताली राज और हरमनप्रीत कौर ने इस दबाव से टीम को निकालने की कोशिश भी की लेकिन पाकिस्तानी गेंदबाजों ने उन्हें ज्यादा मौके नहीं दिए। भारतीय पारी का पहला चौका मिताली राज ने आठवें ओवर में लगाया। दोनों ने सभल कर बल्लेबाजी की और टीम के स्कोर को आगे बढ़ाया। लेकिन वे रनों की रफ्तार बढ़ा नहीं पार्इं। भारत के दस ओवर खत्म हुए तो स्कोर बोर्ड पर सिर्फ 27 रन टंगे थे। रनों को बढ़ाने की कोशिश में मिताली आउट हुर्इं। नदा रशीद की फुलटास गेंद पर उन्होंने बड़ा शाट खेलने की कोशिश की लेकिन टाइमिंग सही नहीं रही और मिडविकेट पर सिदरा अमीन ने उनका कैच थामा।
हरमनप्रीत और मिताली ने 29 रनों की साझेदारी की जो पारी की बड़ी सेझेदारी रही। मिताली ने 16 रन बनाए। पिछले मैच में शानदार बल्लेबाजी करने वाली हरमनप्रीत ने अपने हाथ खोले जरूर लेकिन वे भी बड़ा स्कोर खड़ा नहीं कर पर्इं। वे सादिया यूसुफ की गेंद को नीची नहीं रख पार्इं और सिदरा ने उनका कैच थामने में किसी तरह की गलती नहीं की। हरमनप्रीत ने भी 16 ही रन बनाए। वेदा कृष्णामूर्ति और झूलन गोस्वामी ने तब कुछ अच्छे शाट लगाए और रन की रफ्तार भी बढ़ाई। दोनों जब बड़ी साझेदारी की तरफ बढ़ रहीं थीं तब वेदा ने सना मीर को रिटर्न कैच थमा डाला। निचले क्रम के बल्लेबाजों ने अंतिम 22 गेंदों पर 25 रन बना कर टीम को 96 रनों तक पहुंचाया। इसमें शिखा पांडेय का लगाया छक्का भी शामिल है।
जीत के लिए 97 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए नाहिदा खान और सिदरा अमीन ने पाकिस्तान को आक्रामक शुरुआत दिलाई और दस ओवर में सिर्फ तीन विकेट खोकर 50 रन बना लिए थे। इसके बाद भारत ने कुछ ओवर अच्छी गेंदबाजी की लेकिन खराब फील्डिंग और स्टंपिंग का मौका गंवाने से मैच उसके हाथ से निकल गया। सुषमा वर्मा अगर मुनीबा अली को स्टंप आउट कर देतीं तो पाकिस्तान के सात विकेट होते और भारत एक रन से जीत जाता।
स्कोर बोर्ड
भारत : मिताली राज का अमीन बो दार 16, वेल्लास्वामी वनीता का मीर बो अमीन 2, स्मृति मंधाना पगबाधा बो इकबाल 1, हरमनप्रीत कौर का अमीन बो यूसुफ 16, वेदा कृष्णमूर्ति का एवं बो मीर 24, झूलन गोस्वामी रन आउट 14, अनुजा पाटिल रन आउट 3, शिखा पांडे नाटआउट 10, अतिरिक्त : 10, कुल (सात विकेट पर) 96 रन।
विकेट पतन : 1-3 , 2-5, 3-34, 4-49, 5-71, 6-80, 7-96
गेंदबाजी : अमीन 4-0-9-1, अस्माविया इकबाल 4-0-13-1, मीर 4-0-14-1, यूसुफ 3-0-24-1, बिस्माह 2-0-12-0, दार 3-0-23-1,
पाकिस्तान : नाहिदा खान का कौर बो पांडे 14, सिद्रा अमीन बो गायकवाड़ 26, बिस्माह मारू फ का गोस्वामी बो कौर 5, मुनीबा अली नाटआउट 12, इराम जावेद का राज बो गोस्वामी 10, अस्माविया इकबाल रन आउट 5, सना मीर रन आउट 0, निदा दार नाटआउट 0, अतिरिक्त :5, कुल (16 ओवर में छह विकेट पर) 77 रन।
विकेट पतन : 1-19, 2-48, 3-50, 4-71, 5-77, 6-77
गेंदबाजी : अनुजा पाटील 3-0-14-0, राजेश्वरी 2-0-11-1, पांडे 2-0-14-1, झूलन 4-0-14-1, यादव 3-0-14-0, कौर 2-0-9-1

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.