ताज़ा खबर
 

आम बजट 2017 : अगर आज पेश नहीं हुआ बजट तो एक दिन और बढ़ जाएगी इन लोगों की ‘कैद’

केंद्रीय बजट की तैयारी से उसकी छपाई होने तक, सरकार सुरक्षा में किसी भी तरह ढील नहीं होने देती।
इन अधिकारियों और कर्मचारियों की सुरक्षा का जिम्मा आईबी से लेकर दिल्ली पुलिस और सीआईएसएफ पर होता है।

देश का आम बजट आज पेश होगा या नहीं, यह तो लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन तय करेंगी। लेकिन अगर आज बजट पेश नहीं होता है, तो वित्त मंत्रालय के कई अफसरों की ‘कैद’ एक दिन के लिए और बढ़ जाएगी। दरअसल केंद्रीय बजट की तैयारी से उसकी छपाई होने तक, सरकार सुरक्षा में किसी भी तरह ढील नहीं होने देती। बजट के तैयार होने के बाद जब वह प्रिंटिंग के लिए जाता है तो उसके संसद में पेश किए जाने तक, बजट बनाने से जुड़े सभी अधिकारी-कर्मचारी नॉर्थ ब्लॉक में एक तरह से नजरबंद कर दिए जाते हैं।

अधिकारियों और कर्मचारियों पर कड़ी निगरानी रखी जाती है। सुरक्षा इतनी सख्त होती है कि इन लोगों को अपने परिवार से भी संपर्क नहीं करने दिया जाता। ये लोग बाहरी दुनिया से एकदम अलग कर दिए जाते हैं। वित्त मंत्रालय के कई विभागों को सील कर, पब्लिक एंट्री पर रोक लगा दी जाती है। वहीं सिर्फ वित्त मंत्री और कुछ और बड़े अधिकारियों को ही नॉर्थ ब्लॉक की प्रिंटिंग प्रेस में जाने की अनुमति होती है जिसके लिए भी स्पेशल एंट्री पास बनते हैं। अधिकारी बजट के संसद में पेश होने तक नजरबंद रहते हैं।

बजट से जुड़ी बाकी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

सरकार बजट को टॉप सीक्रेट रखती है। इन अधिकारियों और कर्मचारियों की सुरक्षा का जिम्मा आईबी से लेकर दिल्ली पुलिस और सीआईएसएफ पर होता है। हाईटेक मशीनों के जरिए कड़ी निगरानी की जाती है। साथ ही मोबाइल जैमर्स भी लगा दिए जाते है। प्रिंटिंग प्रेस में किसी भी तरह के संपर्क साधन मौजूद नहीं होते। एक अनुमान के मुताबिक लगभग 100 लोगों को नॉर्थ ब्लॉक में बजट के संसद में पेश होने तक रहना पड़ता है। बता दें कि शुरुआत में बजट पेपर्स राष्ट्रपति भवन में प्रिंट होते थे, लेकिन 1950 में बजट लीक हो गया था और प्रिंटिंग वेन्यू मिंटो रोड पर एक प्रेस में स्थानांतरित किया गया। 1980 से बजट नॉर्थ ब्लॉक के बेसमेंट में प्रिंट हो रहा है।

वीडियो से जानिए कैसे बनता है आम बजट ः

बजट 2017: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने गिनवाईं सरकार की उपलब्धियां, कहा- “सबका साथ, सबका विकास”, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग