ताज़ा खबर
 

एशिया कप से बाहर होने के बाद पाक बल्लेबाजों पर फूटा गुस्सा

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटरों ने बांग्लादेश से मिली हार के बाद टीम के एशिया कप से बाहर होने पर बल्लेबाजों पर जम कर भड़ास निकाली है। पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कहा कि इस तरीके से एशिया कप से बाहर होना निराशाजनक है।
Author कराची | March 3, 2016 23:38 pm
पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटरों ने बांग्लादेश से मिली हार के बाद टीम के एशिया कप से बाहर होने पर बल्लेबाजों पर जम कर भड़ास निकाली है। पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कहा कि इस तरीके से एशिया कप से बाहर होना निराशाजनक है। मुझे उम्मीद थी कि हमारी टीम बांग्लादेश और श्रीलंका को हराकर भारत से फाइनल खेलेगी। पाकिस्तान के टैस्ट कप्तान मिस्बाह उल हक ने हार का ठीकरा बल्लेबाजों पर फोड़ा है। उन्होंने कहा कि हमारे गेंदबाजों ने फिर अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन बल्लेबाज नहीं चल सके। चयनकर्ताओं ने घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करने वाले सभी खिलाड़ियों को मौका दिया। इससे ज्यादा क्या किया जा सकता है।

पाकिस्तान के चैंपियन आफ स्पिनर सईद अजमल ने कप्तान के कुछ फैसलों पर हैरानी जताई। उन्होंने कहा कि शोएब मलिक को सातवें या आठवें ओवर में उतारा जाना चाहिए था। फील्ड में भी कई गलतियां हुई। आकलन में गलतियां की गर्इं। पूर्व टैस्ट कप्तान जावेद मियांदाद, मोहम्मद यूसुफ, रशीद लतीफ और पूर्व क्रिकेटरों मोहसिन खान और सरफराज नवाज ने भी बल्लेबाजों को दोषी ठहराया। पाकिस्तान ने पिछले दस में से सात मैच गंवाए और पिछले चार मैचों में उसने पहले तीन चार विकेट पावरप्ले में ही गंवा दिए। मियांदाद ने कहा कि ऐसी बदतर बल्लेबाजी मैने हाल में कभी नहीं देखी। उन्होंने कहा कि पीसीबी को अब भविष्य के बारे में संजीदगी से सोचकर नया कप्तान लाना चाहिए।

यूसुफ ने कहा- बल्लेबाजों के पास तकनीक ही नहीं थी। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में ऐसा प्रदर्शन नहीं चलता है। शाहिद आफरीदी बतौर कप्तान काफी दबाव में है क्योंकि वे एक खिलाड़ी के तौर पर भी नहीं चल पा रहे हैं। नवाज ने कहा कि पीसीबी को चाहिए कि आफरीदी का इस्तीफा लेकर टी20 विश्व कप के लिए किसी और को कप्तान बनाए। उन्होंने कहा कि हमने कई बहाने सुन लिए लेकिन जब खुद कप्तान अच्छा नहीं खेल रहा है तो दूसरे खिलाड़ियों को कैसे कुछ कह सकता है।

दूसरी तरफ, पाकिस्तान के पूर्व टैस्ट गेंदबाज सकलैन मुश्ताक ने कहा है कि क्रिकेट अधिकारियों को बल्लेबाजी की कमजोरियों को दूर करने के लिए पूर्व महान बल्लेबाजों की मदद लेनी चाहिए। पाकिस्तान के एशिया कप से बाहर होने के बाद सकलैन ने कहा कि मैं बोर्ड को सलाह दूंगा कि जावेद मियांदाद, इंजमाम उल हक और मोहम्मद यूसुफ जैसे पूर्व बल्लेबाजों की मदद ले ताकि बल्लेबाजी में हो रही गलतियों को दूर किया जा सके। उन्होंने कहा कि हम मैच हार रहे हैं क्योंकि हमारे बल्लेबाज कुछ नहीं कर पा रहे। हमारे पास उम्दा गेंदबाज हैं लेकिन स्कोर बोर्ड पर रन भी तो चाहिए। सीमित ओवरों के क्रिकेट में हमारी बल्लेबाजी में निरंतरता का अभाव है। हमें इस पर गंभीरता से विचार करना होगा।

उन्होंने कहा कि हमारे पूर्व बल्लेबाज इसमें मदद कर सकते हैं। पीसीबी को उनकी सेवाएं लेनी चाहिए और सिर्फ अंतरराष्ट्रीय नहीं बल्क घरेलू, जूनियर और अकादमी स्तर पर भी काम करना होगा। पीसीबी ने 2014 में जिंबाब्वे के पूर्व बल्लेबाज ग्रांट फ्लावर को कोच बनाया था लेकिन टीम वनडे और टी20 क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकी है। सकलैन ने कहा कि पाकिस्तान का अपना खिलाड़ी टीम के साथ आसानी से बात कर सकेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग