ताज़ा खबर
 

भाजपा ने एग्जिट पोल को नकारा, कहा जीतेंगे 34-38 सीटें

आप को जीत दिलाने वाले एग्जिट पोल के नतीजों को कड़ाई से खारिज करते हुए भाजपा ने कहा कि वह दिल्ली विधानसभा चुनावों को जीतने तथा 16 साल के अंतराल के बाद राष्ट्रीय राजनीति में आने को लेकर आश्वस्त है। करीब 65 विधानसभा सीटों के पार्टी नेताओं एवं उम्मीदवारों के साथ एक बैठक के बाद […]
Author February 9, 2015 17:41 pm
भाजपा भले ही देश को कांग्रेस मुक्त करने का बीड़ा उठा चुकी हो पर वह उसके अवगुणों को अपनाने के लिए बेहद लालायित है। (फ़ोटो-पीटीआई)

आप को जीत दिलाने वाले एग्जिट पोल के नतीजों को कड़ाई से खारिज करते हुए भाजपा ने कहा कि वह दिल्ली विधानसभा चुनावों को जीतने तथा 16 साल के अंतराल के बाद राष्ट्रीय राजनीति में आने को लेकर आश्वस्त है।

करीब 65 विधानसभा सीटों के पार्टी नेताओं एवं उम्मीदवारों के साथ एक बैठक के बाद दिल्ली भाजपा के प्रमुख सतीश उपाध्याय ने कहा कि उनकी पार्टी को दिल्ली में सरकार गठन की राह में 34 से 38 के बीच सीटें मिलेंगी।

बैठक में भाजपा की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार किरण बेदी, पार्टी महासचिव (संगठन) रामलाल, दिल्ली के प्रभारी प्रभात झा तथा विजय कुमार मल्होत्रा एवं विजय गोयल जैसे वरिष्ठ नेताओं ने भी हिस्सा लिया। इस मौके पर पार्टी सांसद रमेश विधूडी, उदितराज एवं प्रवेश वर्मा भी मौजूद थे।

उपाध्याय ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘हम एग्जिट पोल के नतीजों को पूरी तरह से खारिज करते हैं। हमने चुनाव में अपने प्रदर्शन की समीक्षा की है और हम सरकार बनाने को लेकर आश्वस्त हैं। हमें कम से कम 34-38 सीटें मिल सकती हैं।’’

उपाध्याय ने कहा कि अधिकतर पार्टी उम्मीदवारों ने अपने संबद्ध चुनाव क्षेत्रों में पार्टी के प्रदर्शन को लेकर अपना विश्लेषण दिया। इसके आधार पर उन्होंने महसूस किया कि पार्टी चुनाव में विजयी बनकर उभरेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘हमने सभी चुनाव क्षेत्रों में अपने प्रदर्शन का विश्लेषण किया और इसके आधार पर हमारा मानना है कि किरण बेदी के नेतृत्व में हम दिल्ली में सरकार गठित करेंगे।’’ साथ ही उन्होंने कहा, ‘’ हमने लोगों की प्रतिक्रियाओं और उम्मीदवारों के आकलन के आधार पर प्रत्येक चुनाव के लिए जमीनी सच्चाई का विश्लेषण किया।’’

मतदान के बाद आये एग्जिट पोल के नतीजों ने आम आदमी पार्टी के लिए स्पष्ट बहुमत का अनुमान जताया है। ऐसे ही एक पोल में 70 सदस्यीय सदन में आम आदमी पार्टी को 53 सीटें दी गयी है, जबकि भाजपा को मुख्य विपक्षी पार्टी रहने का अनुमान जताया गया है।

उपाध्याय ने कहा कि दिसंबर 2013 के विधानसभा चुनाव के बाद आये एग्जिट पोल के नतीजे पूरी तरह गलत साबित हुए तथा भाजपा एग्जिट पोल के नतीजों को खारिज करती है। ‘‘इस बार हम निश्चित तौर पर सरकार गठित करने जा रहे हैं।’’

दिल्ली में हुए विधानसभा चुनाव में 673 उम्मीदवार मैदान में हैं। चुनाव में करीब 67 प्रतिशत मतदान हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Santosh Makharia
    Feb 9, 2015 at 2:30 pm
    रस्सी ...................एेंठन नही गई /दिल्ली की जनता ने बीजेपी के लिए जो भूमिका चुनी है उसे ही ठीक से निभा ले तो आनेवाले अन्य राज्यों के चुनाव में इज्जत बचने लायक रह जाये ........
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग