April 25, 2017

ताज़ा खबर

 

एटीएम की कैश वैन सहित ड्राइवर 1 करोड़ 37 लाख रुपए लेकर हुआ फरार

पिछले सप्ताह असम में एक कैश वैन पर हमला करके उसमें रखे कैश को लूट लिया गया था।

Author बेंगलूरु | November 23, 2016 16:20 pm
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

बेंगलूरु में बुधवार को एक ड्राइवर द्वार कैश वैन लेकर फरार हो जाने का मामला सामने आया है। कैश वैन में एक करोड़ 37 लाख रुपए थे। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, ‘वारदात बेंगलूरु के केजी रोड की है। वैन में एक लाख 37 हजार रुपए थे। ड्राइवर कैश के साथ ही वैन को भी लेकर फरार हो गया।’ वैन में बैंक ऑफ इंडिया के लिए कैश लाया जा रहा था। वैन सुरक्षा एजेंसी लॉजी की थी। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। नोटबंदी के ऐलान के बाद से ऐसी और भी कई घटनाएं सामने आई हैं। बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट बंद करने का ऐलान आठ नवंबर को किया था। इसके बाद से कैश के लिए मारामारी मच गई थी। बैंकों के बाहर लंबी कतारें देखने को मिल रही हैं। इस ऐलान के साथ ही पीएम मोदी ने बैंकों और एटीएम से पैसा निकालने की भी सीमा तय कर दी थी।

पिछले सप्ताह असम में एक कैश वैन पर अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया था। इसमें  एक की की मौत हो गई थी और वैन में रखा पूरा कैश लेकर फरार हो गए थे। पुलिस ने इसका शक उल्फा उग्रवादियों पर किया था।

यह हमला असम के तिनसुकिया में हुआ था। इस हमले में एक की मौत हो गई थी और दो अन्य जख्मी हो गए। जब वैन कैश लेकर जा रही थी, तभी अज्ञात बंदूकधारियों ने फायरिंग शुरू कर दी। रिपोर्ट्स के मुताबिक यह वैन जिले के पेनग्री इलाके में चाय बागानों के कर्मचारियों के लिए कैश लेकर जा ही थी। वैन पर हमला उस वक्त हुआ, जब वह रिजर्व फॉरेस्ट इलाके से गुजर रही थी। मृत की पहचान अभिजीत पॉल के रूप में हुई थी।

पीएम मोदी के ऐलान के बाद से नए नोट बैंकों तक पहुंचाए जा रहे हैं। इस दौरान बैंकों की सुरक्षा भी बढ़ाई गई है। बैंकों और कैश वैन लूटने की संभावना जताई जा रही थी। इसको लेकर बैंक और कैश वैन की सुरक्षा बढ़ाई गई हैं। पीएम मोदी ने यह ऐलान करते हुए कहा था कि इससे भ्रष्टाचार और कालेधन पर लगाम लगाने में मदद मिलेगी।

वीडियो में देखें -नोटबंदी: विपक्ष ने संसद के बाहर किया प्रदर्शन; राहुल गांधी बोले- “यह अब तक का सबसे बड़ा घोटाला”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 23, 2016 4:04 pm

  1. No Comments.

सबरंग