ताज़ा खबर
 

अॉडिटोरियम के मैनेजमेंट ने थियेटर डायरेक्टर से कहा-नाटक से पहले बजाओ राष्ट्रगान, वरना नहीं कर पाओगे शो

तीन महीने पहले सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि सिनेमा घरों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजाया जाना चाहिए। जबकि आज उसने कहा कि किसी फिल्म का हिस्सा होने पर राष्ट्रगान के लिए उठना जरूरी नहीं।
राग बहरूपिया का एक दृश्य

तीन महीने पहले सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि सिनेमा घरों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजाया जाना चाहिए। कोर्ट के इस फैसले की काफी आलोचना हुई थी और लोगों ने कहा था कि यह जबर्दस्ती देशभक्ति थोपने जैसा है। लेकिन लगता है कि कुछ थियेटर मालिकों ने इसे अपने ऊपर ले लिया है और इस आदेश को स्टेज शो पर भी लागू कर दिया। थियेटर डायरेक्टर अतुल कुमार के मुताबिक, मुझसे कहा गया कि आप शो तब तक शुरू नहीं कर सकते, जब तक उसके शुरुआत में राष्ट्रगान नहीं बजाया जाएगा। एक फेसबुक पोस्ट में उन्होंने लिखा, उन्होंने मुंबई के रंगशारदा में मुझसे कहा कि मैं पिया बहरूपिया पर शो तब तक नहीं कर सकता, जब तक इसकी शुरुआत में राष्ट्रगान न बजाया जाए।

रंगशारदा अॉडिटोरियम के मैनेजमेंट ने कहा कि उन्हें कैसे भी यह सुनिश्चित करना है कि शो से पहले राष्ट्रगान बजाया जाए। कुमार ने अपनी पोस्ट में लिखा, मैंने उन्हें यह समझाने की कोशिश की कि मशहूर पिया बहरूपिया नाटक एक संगीत से शुरू करेंगे। उन्होंने लिखा कि इसी संगीत के साथ ही नाटक शुरू हो जाएगा और इसकी कोई घोषणा भी नहीं की जाएगी।

दूसरी ओर रंगशारदा अॉडिटोरियम की डायरेक्टर पूर्णिमा शाह ने हफिंगटन पोस्ट को बताया कि अतुल कुमार को राष्ट्रगान बजाने के लिए बाध्य नहीं किया गया था। उन्होंने मुताबिक कुमार से राष्ट्रगान बजाने का अनुरोध किया गया था। यह दो मिनट की बात थी। उन्होंने कहा कि हमारे पास मूवी थियेटर का लाइसेंस है तो हमें सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का पालन करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अतुल कुमार कुछ बदलाव के साथ नाटक से पहले राष्ट्रगान बजाने के लिए राजी हो गए थे। मुझे नहीं पता कि उन्होंने क्यों इसे फेसबुक पर लिख दिया।

रंगशारदा अॉडिटोरियम ने उनसे एक और अनुरोध किया था। शाह ने बताया कि मुंबई महानगरपालिका ने हमसे चुनावी तारीखों को लेकर जागरूकता फैलाने को कहा था। इसलिए हमने अतुल कुमार से इंटरवल के समय इसकी घोषणा करने को कहा था। उन्होंने जोर देकर कहा कि राष्ट्रगान बजाया नहीं गया था।

 

थियेटर डायरेक्टर अतुल कुमार की फेसबुक पोस्ट :

"अगर राष्ट्रगान फिल्म का हिस्सा है, तो खड़ा होना जरुरी नहीं": सुप्रीम कोर्ट, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.