ताज़ा खबर
 

संपादकीय

गतिरोध के बाद

भारत के विदेश सचिव एस जयशंकर का पाकिस्तान जाना यों तो उनकी सार्क यात्रा का एक हिस्सा था, पर उनके दौरे का यही मुकाम...

विरोधाभासों का मेल

रविवार को मुफ्ती मोहम्मद सईद के जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेते ही दो महीने तक चले ऊहापोह का अंत हो गया।...

अकादमिक विचलन

भारतीय जनता पार्टी के केंद्र की सत्ता में आने के साथ अकादमिक संस्थाओं में मनमानी नियुक्तियां होने, शिक्षा और अनुसंधान आदि के भगवाकरण की...

बजट की दिशा

बीते वर्षो में बजट पेश होने के बाद विपक्ष की सामान्य प्रतिक्रिया होती थी कि यह दिशाहीन बजट है। ऐसी बात वर्ष 2015-16 के...

बर्बरता का हथियार

लेखक और ब्लॉगर अविजीत रॉय की हत्या एक स्तब्ध कर देने वाली घटना है। बांग्लादेशी मूल के अमेरिकी नागरिक बयालीस वर्षीय अविजीत रॉय और...

कैसी मेहरबानी

जब भी निजीकरण की वकालत की जाती है तो अक्सर सरकारी विभागों के भ्रष्टाचार का हवाला दिया जाता है। मगर इस बात पर शायद...

सर्वेक्षण के संकेत

हर साल आम बजट से एक रोज पहले सरकार की ओर से संसद में आर्थिक सर्वेक्षण पेश करने की परिपाटी रही है। मोटे तौर...

प्रभु का पिटारा

भारतीय रेलवे देश की सबसे बड़ी सार्वजनिक परिवहन सेवा है। इसलिए इससे ढेर सारी उम्मीदें जुड़ी रहती हैं और रेल बजट के समय वे...

उम्मीदवारी का घपला

हाल में राजस्थान में हुए पंचायत चुनावों को लेकर संवैधानिक सवाल तो पहले से ही उठ रहे थे, अब इन चुनावों की एक और...

विरोधों का सामंजस्य

भारतीय जनता पार्टी और पीडीपी ने काफी ऊहापोह और कई दौर की आपसी बातचीत के बाद आखिरकार जम्मू-कश्मीर में सरकार बनाने के लिए गठजोड़...

बेतुके बोल

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत की मदर टेरेसा के बारे में की गई टिप्पणी पर स्वाभाविक ही देश भर में तीखी प्रतिक्रिया...

अवकाश की पहेली

अन्य लोगों की तरह राजनीतिकों को भी कुछ समय के अवकाश की जरूरत हो सकती है। पश्चिम में तो नेताओं का छुट्टी पर जाना...

महबूबा मुफ्ती-अमित शाह ने न्यूनतम साझा कार्यक्रम को दिया अंतिम रूप

इतिहास में पहली बार जम्मू-कश्मीर में भाजपा के सरकार में आने का रास्ता साफ हो गया है। पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती और भाजपा अध्यक्ष...

आंदोलन की भूमि

अण्णा हजारे ने एक बार फिर दिल्ली के जंतर मंतर से हुंकार भरी है। इस बार भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के खिलाफ। उनके इस आंदोलन...

सेंधमारी की कड़ियां

सरकारी दस्तावेजों के लीक होने की घटनाएं पहले भी कभी-कभार हुई हैं। लेकिन दिल्ली पुलिस ने जिस कांड का भंडाफोड़ किया है वह दो...

नीतीश की वापसी

बिहार की कमान फिर से नीतीश कुमार के हाथ में आने के साथ ही एक पखवाड़े से राज्य में चल रही उथल-पुथल का पटाक्षेप...

बेजा दखल

नालंदा विश्वविद्यालय के कुलाधिपति के तौर पर दूसरे कार्यकाल के लिए अमर्त्य सेन का अपनी उम्मीदवारी वापस लेना कई सवाल खड़े करता है। यह...

सरकार में सेंध

पेट्रोलियम मंत्रालय के दस्तावेज लीक करने के मामले में कुछ व्यक्तियों की गिरफ्तारी दिल्ली पुलिस की बड़ी कामयाबी है। यह आरोप अक्सर सुनने में...

सबरंग