ताज़ा खबर
 

चौपाल

संघ को जानें भी

जनसत्ता के लेखक विद्वान और विचारक हैं, उनके विश्लेषण में पैनापन भी होता है, लेकिन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और हिंदुत्व के बारे में उनकी...

परीक्षा की घड़ी

जम्मू-कश्मीर में सरकार बनाने के लिए भाजपा और पीडीपी ने हालांकि कई बिंदुओं पर अपने रुख को नरम कर लिया है मगर दो-तीन मुद्दों...

तथ्य और कथ्य

इकतीस दिसंबर, 2014 को पोरबंदर से दो सौ पैंसठ किलोमीटर दूर समुद्र में संदिग्ध पाकिस्तानी नौका को उड़ाने के मामले में भारतीय तटरक्षक बल...

बदलाव के बाद

महाभारत के अश्व को कोई नहीं पकड़ सका। लेकिन 2015 में भारत के बेलगाम घोड़े के जीन को एक आम ने अवाम की मदद...

विकल्प की राजनीति

दिलीप मंडल का लेख ‘तीसरी धारा और वामपंथ का विलोपनवाद’ (19 फरवरी) पढ़ा। प्रकाश करात, लालूजी, नीतीशजी, बहनजी खुद सिकुड़ कर भी आम आदमी...

मर्यादा के विरुद्ध

अभिव्यक्ति की आजादी का हवाला देकर चुटकलेबाजी जब अश्लीलता में परिवर्तित होने लग जाए तो समाज की नैतिक मर्यादाओं का खंडित होना स्वाभाविक है।...

असली नकली

लाख छुपाओ छुप न सकेगा राज ये इतना गहरा, दिल की बात बता देता है असली नकली चेहरा। ‘असली नकली’ फिल्म का यह गाना...

विश्वास का सदन

संपादकीय ‘बिहार का गतिरोध’ (13 फरवरी) पढ़ कर एक ऐसे छात्र की कथा याद आ गई जो मैट्रिक की परीक्षा में गणित में बार-बार...

शहीद का इस्तेमाल

पिछले कुछ वर्षों से ‘वेलेंटाइन डे’ पर संघ अपने परंपरागत तरीके मार पिटाई के अलावा विरोध का एक और तरीका इस्तेमाल कर रहा है।...

‘असहिष्णुता अब बर्दाश्त नहीं’

मोदीजी पहले तो मन ही मन मुस्कुराए फिर बोले तनकर आठ महीने बाद कि धार्मिक असहिष्णुता बर्दाश्त नहीं होगी अब बोले तो ऐसा नहीं...

साहित्य में सियासत

बहुत से आदिवासी लेखक झारखंड और देश के अलग-अलग प्रदेशों में बैठकर अपने समाज, साहित्य और संस्कृति को लेकर दिन-रात कलम घिस रहे हैं।...

वैकल्पिक राजनीति

भारत में जब कभी भी कुछ अप्रत्याशित या चकित करने वाली घटना घटती है तो मुझे बीबीसी के लोकप्रिय पत्रकार मार्क टली की किताब...

सब्सिडी का खेल

गैस सब्सिडी का खेल तुरंत बंद होना चाहिए। यह केवल तेल कंपनियों और राजनीतिक दलों के लाभ के लिए है न कि उपभोक्ताओं के...

साकी सरकार

देश में ‘अच्छे दिन’ के वादे पूरे होते कहीं नजर नहीं आ रहे हैं। उलटे केंद्र और कई राज्यों की भाजपा सरकारें लोगों की...

खेल भावना कहां

क्रिकेट विश्व कप में भारत की पकिस्तान पर जीत को सभी टीवी चैनलों पर देख-सुन कर मेरे मन में एक शब्द उभर आया- ‘तौबा!’...

खुशामद की हद

अतिशयोक्तिपूर्ण बातें करना, सुनना, उनमें रस लेना और एक हद तक उनमें भरोसा करना लोक जीवन का अंग है। धार्मिक मामलों में इसकी जगह...

खुशी में गम

समाचारों से ज्ञात हुआ कि अमित शाहजी दिल्ली की हार से इतने दुखी हुए कि इसका प्रभाव उन्होंने अपने बेटे की शादी तक में...

जनता की जीत

बीते वर्ष चौदह फरवरी को केजरीवाल का मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा और अब चौदह फरवरी को ही केजरीवाल का शपथ समारोह किसी फिल्म के...

सबरंग