June 27, 2017

ताज़ा खबर
 

चौपाल

धर्म पहले है देश बाद में। क्या ऐसे होगा मेरा भारत महान?

दमन का तरीका भी अंग्रेजों की तरह निर्मम है- गोली मार दो! उस पर भी हमारे लोकतंत्र के शासक अपनी पीठ थपथपा कर...

भाजपा अध्यक्ष की राष्ट्रपिता के प्रति ऐसी तिरस्कार पूर्ण टिप्पणी भाजपा के चरित्र और विचारधारा को दिखाता है

अमित शाह गरीबी, निरक्षरता, सांप्रदायिक दंगों, जातीय दंगों को रोकने पर अपना ध्यान देने की बजाय दूसरों पर व्यंग्य कसने में लीन हैं।

शर्मसार इंसानियत

इस बीच बच्ची के रोने पर युवकों ने उसका मुंह दबा कर सड़क पर फेंक दिया, जिससे बच्ची की मौत हो गई। यह...

कसौटी पर शिक्षा

रैंक 200 के भीतर अन्य दो संस्थान आइआइटी मुंबई और आइआइएससी बंगलुरु हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि उच्च शिक्षा के...

पर्यावरण दिवस एक-दो दिन तक सीमित क्यों

हर साल पांच जून को ‘पर्यावरण दिवस’ पर तमाम कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं और लोगों को पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक किया जाता...

मेडिकल टूरिज्म के एक प्रमुख ठिकाने के तौर पर उभर रहा है भारत

भारत में इलाज का बेहद कम खर्च, आधुनिकतम चिकित्सा तकनीकों और उपकरणों की उपलब्धता के साथ ही विदेशियों को भाषा की समस्या न होने...

चीनी इरादे

चीन ने 2013 में विश्व के कई देशों से गुजरने वाली बेल्ट और रोड पहल की घोषणा की थी। उसकी आक्रामक निवेश नीति के...

उत्तर प्रदेश सरकार- बच गई गाय, तो अब सारा ध्यान उसी पर है

भाजपा की सरकारें हैं जो स्वयं को गाय, गंगा, गीता और राम का भक्त बताती हैं।

चौपालः हाशिये पर किसान

कई दशकों से जीडीपी ही देश की कृषि और किसानों का विकास है। क्या आपको लगता है कि सरकार जीडीपी के घोषित लक्ष्य को...

चौपालः समय के साथ

समय की गति न्यारी है और इसी वजह से समय को सृष्टि में सबसे अनुपम और बलवान माना गया है।

कतर का संकट

मिस्र, सउदी अरब, बहरीन और यमन द्वारा कतर से कूटनीतिक संबंध तोड़ लेने के बाद न केवल मध्य-पूर्व की राजनीति में अस्थिरता के हालात...

किसानों की सुध

मध्यप्रदेश को पिछले पांच वर्ष से कृषि कर्मण्य अवार्ड प्राप्त हो रहे हैं, सरकार इसे अपनी उपलब्धियों के ढोल के रूप में बजा रही...

मजाक बनते गरीब

निस्संदेह वैश्वीकरण और उदारीकरण की आंधी में गरीब मजदूर, किसान, दस्तकार, शिल्पकार, दस्तकार आदि वर्ग भूखों मरने पर मजबूर हैं।

विकास का छल

वैश्विक आंकड़ों के मुताबिक भारतीय अर्थव्यवस्था विश्व की उभरती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है मगर भारतीय विकास के प्रतिमान समझ से परे हैं।

बेटियों की उपलब्धि

अब छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के कछौड़ गांव की शांति और विज्ञांति नाम की दो बहनों ने अपने मां-बाप का सर गर्व से ऊंचा...

पर्यावरण असंतुलन

कुछ दिन पहले ही दुनिया के दूसरे सबसे बड़े कार्बन उर्त्सक देश अमेरिका ने पेरिस जलवायु समझौते से हटने का फैसला किया।

प्राइवेट स्कूलों की मनमानी

आजकल निजी विद्यालयों के संदर्भ में एक नया शब्द जुड़ता जा रहा है ‘लूट’।

केंद्रीय विश्वविद्यालय मनमाने तरीके से कर रहे हैं काम

अंग्रेजों ने शंकराचार्य द्वारा कभी हिंदू धर्म की रक्षा के लिए स्थापित चार धामों की तर्ज पर भारत के चार कोनों पर चार शानदार...

सबरंग