December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

एड्स के विरुद्ध

संक्रमण हम सबका साझा दुश्मन है और इसे अकेले रह कर ठिकाने नहीं लगाया जा सकता।

Author December 2, 2016 01:02 am
एचआइवी आौर एड्स ।

विश्व एड्स दिवस 1988 के बाद से एक दिसंबर को हर साल मनाया जाता है, जिसका उद्देश्य एचआइवी संक्रमण की वजह से एड्स के प्रति जागरूकता बढ़ाना है। रोकथाम महामारी के खिलाफ हमारा सबसे शक्तिशाली हथियार है। केवल प्रयासों में एकजुट बने रहने के माध्यम से ही इस महामारी को निर्णायक रूप से समाप्त किया जा सकता है। यह संक्रमण हम सबका साझा दुश्मन है और इसे अकेले रह कर ठिकाने नहीं लगाया जा सकता।

एचआइवी के खिलाफ जागरूकता को राष्ट्रीय सुरक्षा की मोर्चेबंदी से कम अहमियत नहीं दी जानी चाहिए। हमारा ध्यान, हमारे स्वास्थ्य की देखभाल और इसके लिए सुविधाओं को मजबूत करने के मकसद से मानव शक्ति को प्रशिक्षित करने और एचआइवी के लिए यूनिवर्सल परीक्षण सुनिश्चित करने के लिए होना चाहिए। हमें हर संभव प्रयास करना होगा, संसाधन जुटाने होंगे और देश में मौजूद कौशल का उपयोग सुनिश्चित करना हो, ताकि हम स्वास्थ्य और राष्ट्र की समृद्धि सुनिश्चित कर सकें। हमें इस महत्वपूर्ण दहलीज पर अपनी पकड़ मजबूत करनी होगी और यह सुनिश्चित करना होगा कि वहां कोई ढिलाई नहीं बरती जाए।
’आकाश कुमार, जगराओं, पंजाब

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 2, 2016 1:02 am

सबरंग