ताज़ा खबर
 

चौपाल: क्या औचित्य

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने नौ अक्तूबर को वारंगल में मां भद्रकाली को 3.7 करोड़ रुपए मूल्य का स्वर्ण मुकुट चढ़ाया।
Author October 14, 2016 04:42 am
तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव (फाइल फोटो)

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने नौ अक्तूबर को वारंगल में मां भद्रकाली को 3.7 करोड़ रुपए मूल्य का स्वर्ण मुकुट चढ़ाया। पत्नी शोभा राव और मंत्रिमंडल के कुछ सहयोगियों के साथ राव ने मंदिर में 11.7 किलोग्राम वजन का मुकुट चढ़ाया। आखिर जनता के पैसों का इस तरह दुरुपयोग करने और दूसरों को प्रेरित करने का क्या औचित्य है? आस्था और धर्म के नाम पर इस तरह की कार्रवाई पर सरकार और न्यायालय को रोक लगानी चाहिए। वास्तविकता यह है कि आज हमारे देश के मंदिरों में हजारों करोड़ की संपत्ति जमा है जिसका कोई उत्पादक या लोक कल्याणकारी उपयोग नहीं हो रहा है। मंदिरों में पड़ी बेशकीमती संपत्तियां प्राचीन काल से ही देशी-विदेशी लुटेरों का निशाना बनती आई हैं। केंद्र सरकार को देश के पूजा स्थलों में जमा आवश्यकता से अधिक धनराशि का बैकों की तरह राष्ट्रीयकरण करना चाहिए। साथ ही इस राशि का उपयोग शिक्षा, रोटी, कपड़ा, मकान, स्वास्थ्य आदि बुनियादी सुविधाओं के विकास में किया जाना चाहिए।
’पीके सिंह ‘पाल’, रायबरेली रोड, लखनऊ

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग