January 16, 2017

ताज़ा खबर

 

चौपाल: सबूत किसलिए

सर्जिकल स्ट्राइक के दावे कांग्रेसियों और शरद पवार सरीखे नेताओं के श्रीमुख से सामने आ रहे हैं।

Author October 8, 2016 05:32 am
सीमा पर सुरक्षा में लगे भारतीय जवान। (Source: PTI)

क्या अमेरिकियों ने अपने राष्ट्रपति से उसामा बिन लादेन को निपटाने के अभियान के सबूत मांगे थे? सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत सार्वजनिक करने का अर्थ पाक सेना और सरकार को हमारे गोपनीय सैन्य अभियान का रहस्य उजागर करना है। इसके लिए तो वे बेचैन ही हैं। कोई केजरीवाल या संजय निरुपम जैसा नौसिखिया ही उनके इस जाल में फंस सकता है। ऐसे अभियानों के वीडियो आदि सैनिक प्रशिक्षण संस्थानों में ट्रेनिंग के लिए ही प्रयोग किए जाते हैं।

अब अचानक कुछ पुराने सर्जिकल स्ट्राइक के दावे कांग्रेसियों और शरद पवार सरीखे नेताओं के श्रीमुख से सामने आ रहे हैं। नियंत्रण रेखा को पार कर छुटपुट व गुपचुप अभियान निश्चित रूप से पहले हुए हैं पर उन्हें न सेना स्वीकार करती थी, न सरकार। उनमें से कोई भी हालिया सर्जिकल स्ट्राइक जैसे व्यापक भी नहीं रहा। सबसे बड़ी बात यह है कि राजनीतिक नेतृत्व की मंजूरी के बाद नवीनतम स्ट्राइक अंजाम दिया गया। उसी तरह सेना ने बिना लाग-लपेट उसे पूरी दुनिया के सम्मुख रखा। यह एक बिलकुल नई बात है, जिसने पाक को न सिर्फ हिला दिया, बल्कि अलग-थलग भी कर दिया।
’अजय मित्तल, मेरठ

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 8, 2016 5:32 am

सबरंग