December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

सुधार की पटरी

रेल भारत में जीवन शैली का अभिन्न अंग है। प्रतिदिन करोड़ों लोग अपनी दिनचर्या में इसका प्रयोग करते हैं।

Author December 2, 2016 01:44 am
भारतीय रेल (फाइल फोटो)

रेल भारत में जीवन शैली का अभिन्न अंग है। प्रतिदिन करोड़ों लोग अपनी दिनचर्या में इसका प्रयोग करते हैं। इसलिए रेलवे पर दबाव अधिक हो जाता है कि वह अपने आप को समयानुसार सुरक्षित और आधुनिक बनाए। रेलवे को प्रशिक्षित तकनीकी स्टाफ की भर्ती करनी चाहिए, व्यक्तिगत जिम्मेदारी सुनिश्चित की जाए और दुर्घटना होने पर सख्त सजा और वसूली का प्रावधान हो। एकल लाइनों को तीन या चार लाइनों में बदलना चाहिए, ट्रैकों पर अधिक ध्यान देना चाहिए, जापान की तर्ज पर ईएमयू सिस्टम अपनाना होगा। सबसे महत्त्वपूर्ण यह है कि बिना देर किए रेल सुरक्षा पर गठित काकोदकर समिति की सिफारिशों को माना जाए। तब जाकर हादसों को कम किया जा सकता है। रेलवे को पवन और सौर ऊर्जा की तरफ भी सोचना होगा।

’हितेष भारद्वाज, सुभाष नगर, कैथल

राहुल गांधी के बाद अब कांग्रेस का ट्विटर अकाउंट हैक; किए गए आपत्तिजनक ट्वीट

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 2, 2016 1:41 am

सबरंग