April 24, 2017

ताज़ा खबर

 

मोदी पर भरोसा

मोदी पर भरोसा उत्तर प्रदेश में भाजपा को प्रचंड जनादेश मिला है। भाजपा विरोधी दलों ने नोटबंदी का कड़ा विरोध किया था। इसके बाद भी जनता ने किसी तरह का कोई रोष नहीं दिखाया। मोदी के मैजिक का असर मतदाताओं पर इतना पड़ा कि सपा, कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी को करारी शिकस्त खानी पड़ी। […]

Author March 15, 2017 05:46 am
2014 के आम चुनाव में यूपी की कुल 80 लोक सभा सीटों में से 73 पर भाजपा एवं सहयोगी दलों को जीत मिली थी। (PTI Photo by Manvender Vashist)

मोदी पर भरोसा
उत्तर प्रदेश में भाजपा को प्रचंड जनादेश मिला है। भाजपा विरोधी दलों ने नोटबंदी का कड़ा विरोध किया था। इसके बाद भी जनता ने किसी तरह का कोई रोष नहीं दिखाया। मोदी के मैजिक का असर मतदाताओं पर इतना पड़ा कि सपा, कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी को करारी शिकस्त खानी पड़ी। सपा के कुशासन से जनता परेशान थी। अखिलेश ने फैमिली ड्रामे के जरिए सत्ता विरोधी लहर को कमजोर करने की कोशिश की थी। इसके बाद भी लोगों का मोदी पर भरोसा था। उम्मीद है कि अब प्रदेश में बाहुबल, धनबल, जातिबल, संप्रदाय बल की राजनीति खत्म होगी और भ्रष्टाचार पर लगाम लगेगी। कानून व्यवस्था बनाए रखने पर सरकार को विशेष जोर देना होगा। याद रखें कि जनता जिस तरह सत्ता सौंपती है, उसी तरह कुर्सी छीनना भी उसे खूब आता है।
’कांतिलाल मांडोत, सूरत
शाश्वत सच
पुरानी कहावत है- जिसकी लाठी उसकी भैंस। कौन नहीं जानता कि कहावतों में युगों-युगों का सत्य समाहित रहता है। पहले भी लट्ठ-धारी भैंस को जबरन हांक कर ले जाता रहा होगा और आज भी कमोबेश वही स्थिति है। अनुभवसिद्ध आप्तवचनों यानी कहावतों को मानवता के अश्रु भी कहा गया है।
कुछ लोग कहते हैं कि देशकाल के चलते कहावतें भी अपना अर्थ खो देती हैं। आंशिक रूप से यह कथन सही है। मगर ऐसी कुछ कहावतें हैं जो मनुष्य के शाश्वत चिंतन और अनुभवसिद्ध ज्ञान से स्फुरित हुई हैं। चूंकि युगयुगीन अथवा शाश्वत सच्चाइयों में कोई बदलाव नहीं होता, इसलिए अधिकतर कहावतों का सत्य भी चिरंतन रहता है। ‘जैसा करोगे, वैसा भरोगे’ कहावत एक शाश्वत सच्चाई है। इसमें बदलाव कहां होगा?
’शिबन कृष्ण रैणा, अलवर

दिल्ली: अरविंद केजरीवाल की चुनाव आयोग से मांग- "ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से करवाए जाएं MCD चुनाव"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 15, 2017 5:46 am

  1. No Comments.

सबरंग