December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

मीडिया मोह

आकस्मिक हुई नोटबंदी की घोषणा के बाद मीडिया ने करवट ली और नोटबंदी की खबर केंद्र में आ गई।

Author December 1, 2016 06:37 am
अमेरिका के बाद भारत इंटरनेट का दूसरा सबसे बड़ा उपयोगकर्ता देश है।

वर्तमान समय में हमारे जीवन में मीडिया की भागीदारी इतनी अधिक हो चुकी है कि अब हम पूरी तरह इसी से नियंत्रित होने लगे हैं। हमारा रोजमर्रा का जीवन भी पूरी तरह इसकी चपेट में आ चुका है। कुछ दिन पहले राजधानी में प्रदूषण की समस्या को बड़े जोरों से उठाया गया था, जिसके परिणामस्वरूप बहुत सारे लोगों के मुंह पर ‘मास्क’ लग गए थे। लेकिन इसके बाद आकस्मिक हुई नोटबंदी की घोषणा के बाद मीडिया ने करवट ली और नोटबंदी की खबर केंद्र में आ गई। इसके साथ ही लोगों के मुंह पर लगे मास्क अचानक से गायब हो गए। मीडिया का चरित्र ही कुछ ऐसा है कि वह किसी खबर-विशेष को जोर-शोर से प्रसारित कर अन्य खबरों पर अचानक से पर्दा डाल देता है। दुर्भाग्य यह है कि आपाधापी के इस दौर में हम अपनी प्राथमिकताएं मीडिया के माध्यम से ही तय करने लगे हैं।
’कन्हैया जादौन, जामिया मिल्लिया, दिल्ली

चर्चा: डिजिटल डाटा से पता चला उरी हमला करने वाले आतंकवादी पाकिस्तान से आए थे

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 1, 2016 1:54 am

सबरंग