ताज़ा खबर
 

डिजिटल की गति

इंटरनेट मुहैया कराने वाली कंपनियां लोगों के साथ भारी नाइंसाफी कर रही हैं और हाई स्पीड इंटरनेट के नाम पर बहुत ही धीमा इंटरनेट दे रही हैं।
Author December 26, 2016 03:13 am
सांकेतिक तस्वीर।

जब सब कुछ डिजिटल कर देने का दावा किया जा रहा है और दबाव बनाया जा रहा है, वैसे समय में इंटरनेट का दायरा और उसकी कम स्पीड की वजह से भारत के लोगों को बहुत दिक्कत हो रही है। जबकि सच यह है कि भारत में पिछले दस साल में इंटरनेट की स्पीड में ज्यादा विकास नहीं हुआ है। इंटरनेट मुहैया कराने वाली कंपनियां लोगों के साथ भारी नाइंसाफी कर रही हैं और हाई स्पीड इंटरनेट के नाम पर बहुत ही धीमा इंटरनेट दे रही हैं। अभी देश में मात्र छियालीस करोड़ लोगों के पास इंटरनेट की सुविधा है। हाल की खबरों के अनुसार, भारत में इंटरनेट की अधिकतम स्पीड सिर्फ 3.5 एमबीपीएस है, जबकि सिंगापुर जैसे देशों में यह स्पीड 114 एमबीपीएस है। अमेरिका जैसे देश के पास भारत से पचास गुना ज्यादा इंटरनेट की गति है। विदेश में ब्रॉडबैंड की संख्या बहुत ज्यादा है, लेकिन भारत में यह बहुत कम है। जितनी दूर तक पहुंच है भी, वहां स्पीड बहुत धीमी होने की वजह से आॅफिस और स्कूल में सबको दिक्कत हो रही है।
’ऋषव हलदर, गुड़गांव

राहुल गांधी के आरोपों का पीएम मोदी ने किया पलटवार; कहा- “अब क्योंकि वो बोल चुके हैं, तो भूकंप का कोई चांस ही नहीं”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग