April 27, 2017

ताज़ा खबर

 

चौपाल

हार की खीझ, वैसे नहींं

सोनिया-राहुल ने यदि हार की जिम्मेदारी लेने का साहस और शालीनता दिखाई होती तो उनका कद बढ़ता।

गाय के बहाने

हिंदुत्व आस्था के मामले में बहुत उदार रहा है। इसका रुख उपयोगितावादी और व्यावहारिक ज्यादा रहा है।

बत्ती गुल, कब तक

एक लंबे अरसे से वीआईपी संस्कृति को समाप्त किए जाने की मांग की जा रही है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने भी वीआईपी...

नक्सली नासूर

छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलवादियों के घात लगा कर किए गए हमले में सीआरपीएफ के 26 जवानों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।...

क्या बदला, माया के दलित

केंद्र में 2014 में बनी नई सरकार ने व्यवस्था बदलने की बात कही थी। देश को साठ साल का गड््ढा दिखाया जो कांग्रेस ने...

जल कुप्रबंधन

इस विवाद से कई प्रश्न उभरते हैं जिनका स्पष्टीकरण जनता के सामने आना ही चाहिए।

अफसरों का काम, विकास और पर्यावरण

विकास का मतलब सिर्फ शहरीकरण या औद्योगीकरण नहीं होता। सही मायनों में विकास वह है जो सतत हो, जिसमें पर्यावरण और पृथ्वी का भी...

सेहत का सवाल, पृथ्वी की चिंता

मोटापे की वजह बड़ों में ही नहीं बल्कि बच्चों में भी मधुमेह, एनीमिया, उच्च रक्तचाप तथा हृदय से जुड़ी बीमारियां तेजी से एक बड़ी...

चौपालः सच की सजा

जवानों को घटिया खाना देने का वीडियो वायरल कर सुर्खियों में आए सीमा सुरक्षा बल के कांस्टेबल तेज बहादुर यादव को बर्खास्त कर दिया...

चौपालः संयम के साथ

हाल में तीन खबरों ने सबका ध्यान खींचा है। पहली, स्नैपचैट के सीईओ ने कहा कि वे अपनी सेवाओं का विस्तार भारत जैसे ‘गरीब’...

चौपाल: आजादी की सीमा, टूटते वर्चस्व

पार्श्वगायक सोनू निगम की आपत्ति पर उलेमा आग-बबूला हैं। वे इसे धार्मिक आजादी पर हमला बता रहे हैं।

पैगंबर की सीख, नायक कौन

पैगंबर हजरत मोहम्मद जब भी नमाज पढ़ने मस्जिद जाते तो उन्हें रोजाना एक वृद्धा के घर के सामने से निकलना पड़ता था।

चुनावी सूरत, अपनी भाषा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सूरत में एयरपोर्ट से सर्किट हाउस तक करीब 12 किलोमीटर का मेगा रोड शो किया।

खतरे की घंटी, न्याय का डर

अमेरिका ने एक हफ्ते के अंदर दो बड़े हमले करके दुनिया को फिर यह अहसास दिला दिया है कि वह अपने प्रभुत्व को वैश्विक...

बदला या बदलाव, ध्यान दें किसान

एक तरफ आरक्षण के मुद्दे पर भाजपा की राजनीति और दूसरी तरफ आंबेडकर के प्रति लगाव, यह स्पष्ट करने के लिए पर्याप्त है कि...

विश्व धरोहर दिवस: देश के अतीत पर गर्व करते हैं आप लेकिन इसकी धरोहरों के लिए क्या करते हैं?

आज विश्व धरोहर दिवस है तो हमें इसी बहाने अपनी ऐतिहासिक और पुरातात्त्विक धरोहर की सुध ले लेनी चाहिए।

अन्न की बर्बादी

वेदों और अन्य धर्मग्रंथों में कहा गया है- खाओ मन भर, छोड़ो ना कण भर।

कानून की किरकिरी, ट्रंप की चूक

इससे पहले भी देश के विभिन्न कॉलेजों में यह स्थिति पैदा हो चुकी है। रामजस कॉलेज हो या जेएनयू, सब जगह छात्र देशद्रोह का...

सबरंग