चौपाल

चौपालः राजगार की राह

रोजगार की व्यापक समस्या पर काबू पाने के मकसद से लागू की गई महत्त्वाकांक्षी योजना मनरेगा आज भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रही है। यह...

चौपालः लेखक बनाम पाठक

‘किताबों की आभासी दुनिया’ (दुनिया मेरे आगे, 29 जनवरी) में वीरेंद्र जैन जी की चिंता जायज है। भारतीय भाषाओं में छपी पुस्तकों के लिए...

चौपालः पॉलीथिन का प्रसार

मोदीजी स्वच्छ भारत के लिए देशवासियों से अपील कर रहे हैं। लोग धीरे-धीरे समझने भी लगे हैं। जितना भी कचरा है, गंदगी है उसका...

चौपालः मानसिकता बदलें

वैश्वीकरण के इस माहौल में हमने संसाधनों और भौतिक विकास की दौड़ में तो अग्रणी स्थान बनाने की कोशिश की है, लेकिन उसके अनुरूप...

चेतना की जमीन

पहले एक बहुत ही ‘अजीब’ विचार। विचार यह कि ऐसी संस्था बनाई जाए, जो बीस साल से कम उम्र के बीस उद्यमियों को लाखों...

चौपालः मुसीबत की थैली

स्वच्छ भारत के लिए देशवासियों से अपील कर रहे हैं। लोग धीरे-धीरे समझने भी लगे हैं। जितना भी कचरा है, गंदगी है उसका सिर्फ...

पाकिस्तान से सीखें

हिंदी फिल्म ‘क्या कूल हैं हम 3’ पर पाकिस्तान में पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया है। वहां के सेंसर बोर्ड ने इस फिल्म के...

हाशिए पर गरीब

मेक इन इंडिया और स्टार्ट-अप जैसी योजनाएं कितनी कारगर साबित हो सकती हैं, जब देश का एक बड़ा तबका रोजी-रोटी, पीने के साफ पानी...

गणतंत्र का चेहरा

भारतीय गणतंत्र के सड़सठ वर्ष पूरे हो गए, राजपथ पर भव्य झांकियों और करतबों ने देश की एकता, अखंडता और समृद्धि को प्रतिबिंबित करने...

चेतने का समय

जिस आतंकवाद को पाकिस्तान ने दूसरों के लिए पाला-पोसा और खड़ा किया, आज वही उसके गले की फांस बन गया है।

खुदकुशी पर सियासत

हैदराबाद विश्वविद्यालय के छात्र रोहित वेमुला की आत्महत्या पर जिस तरह सियासत हो रही है, वह चिंता का विषय है। पार्टियों ने इस मुद्दे...

टूटता भरोसा

रोहित वेमुला की आत्महत्या ने एक बार फिर भारत की दलित राजनीति को आहत किया है। कोई पार्टी तुरंत इस आग में हाथ सेंकने...

चौपालः स्वार्थ की राजनीति

हैदराबाद के केंद्रीय विश्वविद्यालय के पीएचडी स्कॉलर छात्र रोहित वेमुला की आत्महत्या से एक बार फिर देश की राजनीति गरमा गई है।

चौपालः तीन हत्याएं

मराठबाड़ा जालना जिले में एक किसान अपनी मौत का निमंत्रण भेज कर गांव वालों को बुलाता है और खुदकुशी कर लेता है यह कह...

दुराग्रह से दूर

रोहित की खुदकुशी प्रकरण में जांच और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग और छात्रों का आक्रोश स्वाभाविक व जायज है। खेद है कि...

सुविधा की रेल

माना जा रहा है कि लगभग 98000 करोड़ की लागत की जापान के सहयोग से मुंबई और अमदाबाद के बीच प्रस्तावित बुलेट ट्रेन परियोजना...

आतंक का जाल

आज आइएस की तकनीकी दक्षता ने पूरी दुनिया को दहला दिया है। तकनीक में इतना माहिर इसके पहले शायद ही कोई और आतंकी संगठन...

मुरझाई उम्मीदें

नरेंद्र मोदी सरकार की जगाई उम्मीदें अब मुरझा रही हैं। उसने जिस विकास के सपने दिखाए थे, वे दरअसल चंद अरबपतियों के खजाने भरने...

स्त्री के प्रति

केरल के सबरीमाला मंदिर का है जो इस समय चर्चा में है और जहां दस से पचास वर्ष की आयु वाली महिलाओं के प्रवेश...

आतंक पर नकेल

यह बहुत अफसोसनाक है कि दुनिया में आज भी आतंकवाद को लेकर विभिन्न देशों का न तो एक स्वर है न एक नीति है।...

मेवा की सेवा

दिल्ली के विधायकों के वेतन-भत्ते और पेंशन में प्रस्तावित वृद्धि को लेकर मीडिया में बहुत चर्चा हुई है। कुछ विश्लेषक इसे चार सौ फीसद...

मजहब नहीं सिखाता

मालदा की घटना कोई छोटा मुद्दा नहीं है। कट्टर सोच वाले मुसलमानों को अब मंथन करने की जरूरत है। पैगंबर साहब के बारे में...

लोकतंत्र के बरक्स

सच के साथ होना, असभ्य होना नहीं है। संस्कृति की मुखालफत में झंडा बुलंद करना नहीं है। लगता है, तर्क की कसौटी आज हमारे...

अपने पराए

यों तो कई पाकिस्तानी कलाकार भारत में आकर अपनी कला का जौहर दिखाते हैं और दौलत के साथ शोहरत भी पाते हैं पर...