चौपाल

  • समझ से बाहर

    कभी-कभी खुद पर हैरानी होती है कि इतने ज्यादा प्रचलित, खास तौर पर सरकारी तंत्र द्वारा प्रचारित-प्रसारित किए जाने वाले शब्दों के मायने मुझे क्यों...

  • अर्थव्यवस्था की सेहत

    लंबे समय तक सख्ती के बाद आखिरकार रिजर्व बैंक के रेपो दर में चौथाई फीसद की कटौती करने पर स्वाभाविक ही कारोबारियों ने प्रसन्नता जाहिर...

  • बात पर बात

    प्रधानमंत्रीजी, आपके मन की बात सुन कर मैं भी अपनी मन की बात कहना चाहता हूं। आपने मन की बात छात्रों से साझा की, नौजवानों...

  • बदहाली के स्कूल

    करीब दो साल पहले सर्वोच्च न्यायालय ने अपने एक आदेश में कहा था कि देश के तमाम सरकारी या निजी स्कूलों में पर्याप्त संख्या में...

  • सत्ता की रेवड़ी

    सत्ता जिसके भी हाथ लगती है, अपने चहेतों को रेवड़ियां बांटने का माध्यम बन जाती है। कितनी ही अंगुलियां उठती रहें, सार्वजनिक संपदाओं की बंदरबांट...

  • विकल्प की राजनीति

    अन्य पार्टी या संगठनों की तरह आम आदमी पार्टी के भीतर भी नेतृत्व का द्वंद्व आपसी टकराव में तब्दील होता दिखा है। 2013 के दिल्ली...

  • न्याय की नजीर

    बीबीसी की एक खबर के अनुसार ब्रिटेन में तीन जजों को अश्लील सामग्री (पोर्न) देखने के आरोप में नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है,...

  • वायदे और हकीकत

    उत्तर प्रदेश में सपा सरकार को तीन साल पूरे हो गए हैं। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव राज्य में विकास का दावा करते नहीं थक रहे हैं...

  • ऐसी निष्ठा

    विष्णु नागर ने ‘असाधारण जुनून’ (दुनिया मेरे आगे, 19 मार्च) में सेवानिवृत्त सहायक सब इंस्पेक्टर राजेंद्र धोंदू भोंसले की काम के प्रति जैसी निष्ठा का...

  • दवा में लूट

    सोलह मार्च को इसी अखबार में पृष्ठ नौ पर स्वास्थ्य संबंधित प्रकाशित खबर पर संभव है, बहुत कम लोगों की नजर गई हो। इसमें बताया...