चौपाल

  • असुरक्षा की रेल

    भारत की रेलगाड़ियों में सुरक्षा और सुविधाओं को विश्वस्तरीय बनाने के सरकारी दावे अक्सर हवाई ही साबित हुए हैं। हर बड़ी रेल दुर्घटना के बाद...

  • राहुल की जगह

    ऐसा क्या बुरा बचा होगा जो राहुल गांधी के बारे में नहीं कहा गया हो! उन्हें विदूषक ठहरा कर खूब खिल्ली उड़ाई गई। यहां तक...

  • किसान की पीड़ा

    मेधा पाटकर का लेख ‘फिर क्यों छिड़ी जमीन की लड़ाई’ (जनसत्ता, 24 फरवरी) पढ़ा। जो व्यक्ति आजीवन किसानों की समस्याओं के लिए संघर्षरत रहा हो...

  • कैसी सीख

    गणतंत्र दिवस पर हमारे देश के मेहमान बने अमेरिकी राष्ट्रपति हमें सामाजिक सद्भाव का सबक सिखा कर चले गए। अमेरिका पहुंच कर भी भारत में...

  • उलटी गंगा

    अटकलें है कि कांग्रेस आलाकमान ने राहुल गांधी को कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष बनाने का मन बना लिया है। मुझे याद है राहुल की कांग्रेस...

  • अधिग्रहण की जमीन

    पिछले आम चुनाव में यूपीए सरकार की अलोकप्रियता के साथ ही ‘सबका साथ सबका विकास’ के नारे और विदेशों में जमा भारतीयों का काला धन...

  • रेल बजट में

    रेलमंत्री ने इस साल के बजट में पूर्व घोषित योजनाओं को पूरा करने का इरादा जताते हुए नई रेलगाड़ियों की घोषणा न करके एक अच्छी...

  • मोदी सरकार: वही दंभ

    मोदी सरकार संसदीय लोकतांत्रिक प्रणाली को धता बताते हुए बड़े पूंजी मालिकों के हित में जारी किए गए अनेक अध्यादेशों को पारित करवाने का वही दंभ दिखा रही है...

  • राहुल गांधी: लाल छुट्टी पर

    अपने बच्चे से ज्यादा प्रतिभाशाली और योग्य कोई हो सकता है यह बात एक मां मान ले तो फिर वह शायद ममतामयी मां का दर्जा खो दे। इसीलिए बच्चों...

  • किसका विकास

    जनतंत्र में सबसे अहम सुविधा यह होती है कि जब सरकार की गलत नीतियों से लोगों का भरोसा खत्म होने लगे, उन्हें तकलीफ होने लगे...