ताज़ा खबर
 

जीएसटी लागू होने के बाद ऑनलाइन और ऑफलाइन बराबर हो जाएंगी मोबाइल की कीमतें, अब ऑफलाइन सेल पर फोकस कर रहीं कंपनियां

अभी ऑनलाइन सेलर्स को वैट फायदा मिलता है जो जीएसटी लागू होने पर खत्म हो जाएगा।
1 जुलाई, 2017 से देश में जीएसटी लागू कर दिया गया है। (Photo-financialexpres)

स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियां असुस, इनफोकस, शियोमी, मोटोरोला, जेडटीई और हुवाई आदि गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) लागू होने के चलते अपना फोकस अब ऑनलाइन से हटा रही हैं। यह कंपनियां अब अपना फोकस ऑफलाइन मार्केट में बढ़ा रही हैं। जीएसटी एक जुलाई से लागू हो रहा है। इसके लागू होने के बाद स्मार्टफोन्स की कीमत ऑनलाइन और ऑफलाइन लगभग बराबर हो जाएंगी। इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक यह ब्रैंड्स अब डायरेक्ट डिस्ट्रीब्यूशन, रिटेल स्टोर्स के साथ पार्टनरशिप, ऑफलाइन सेल करने के लिए फोन के अलग मॉडल और साथ ही अपने एक्सक्लूसिव स्टोर्स खोलकर मार्केट में अपनी मौजूदगी दर्ज कराने के लिए स्ट्रेटजी बना रहे हैं। यह जानकारी तीन कंपनियों के एग्जीक्यूटिव्स ने दी।

मोबाइल की रिटेल चेन हॉटस्पॉट के डायरेक्टर शुभाशीष मोहंती ने बताया, ऑनलाइन स्मार्टफोन ब्रैंड्स के बीच ऑफलाइन रिटेल में अपनी पकड़ा मजबूत करने में दिलचस्पी देखी जा रही है। शियोमी और हुवाई जैसे ब्रैंड्स ने इस पर काम तेज कर दिया है जबकि दूसरे ब्रैंड्स ऐसा करने की योजना बना रहे हैं। ऑनलाइन सेलर्स को अभी वैट फायदा मिलता है जो जीएसटी लागू होने पर खत्म हो जाएगा। ऐसा होने पर ऑनलाइन और ऑफलाइन ट्रेड के बीच मुकाबला बराबर का हो सकता है। अभी ऑनलाइन सेलर्स बेंगलुरु और हैदराबाद जैसे मार्केट्स से ऑपरेट करते हैं जहां स्मार्टफोन पर 5 पर्सेंट वैट लगता है। दूसरे मार्केट्स में वैट काफी ज्यादा है और नेशनल एवरेज 10-12 पर्सेंट है। इसलिए ऑनलाइन कंपनियां स्मार्टफोन को ऑफलाइन स्टोर्स के मुकाबले कम दाम पर बेच पाती हैं। जीएसटी लागू होने के बाद हर जगह टैक्स बराबर हो जाएगा।

शियोमी अपने ऑनलाइन मॉडल को ऑफलाइन में लागू करने की कोशिश कर रहा है। इस मॉडल में डिस्ट्रीब्यूटर्स सीधे रिटेल स्टोर्स को प्रॉडक्ट्स बेचेंगे। उसने दक्षिण भारत की चार बड़ी रिटेल चेन-संगीता, पूर्विका, बिगसी और लॉट से करार किया है। वह दूसरी रिटेल चेन से भी बात कर रही है। शियोमी एमआई होम स्टोर्स भी खोलना चाहती है।

आसुस इंडिया के कंट्री मैनेजर पीटर चैंग ने बताया कि उनकी कंपनी मेट्रो से लेकर टियर 2 शहरों के ऑफलाइन मार्केट पर ध्यान दे रही है। उन्होंने कहा, जीएसटी से टैक्स में बराबरी आएगी और एक से दूसरे राज्य सामान ले जाना आसान हो जाएगा। इससे सेलर्स को हर जगह एक कीमत रखने में मदद मिल सकती है।

बीजेपी यूथ विंग के नेता ने कहा- "ममता बनर्जी का सिर काटकर लाने वाले को 11 लाख रुपए दूंगा"

CBSE ने 12वीं की किताब में 36-24-36 वाली फिगर को माना बेस्ट; वायरल हुआ कंटेंट

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग