ताज़ा खबर
 

उर्जित पटेल होंगे RBI के नए गवर्नर, रिलायंस इंडस्ट्रीज में भी कर चुके हैं काम

उर्जित पटेल इसी साल आरबीआई में डिप्टी गवर्नर के पद पर नियुक्त किए गए थे
Author नई दिल्ली | August 21, 2016 04:31 am
रिजर्व बैंक गवर्नर उर्जित पटेल।(फाइल फोटो)

रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर उर्जित पटेल को केंद्रीय बैंक का नया गवर्नर नियुक्त किया गया है। वे मौजूदा गवर्नर रघुराम राजन की जगह लेंगे। इसके साथ ही रिजर्व बैंक के गवर्नर को लेकर लगाई जा रही अटकलें समाप्त हो गईं। पटेल रिजर्व बैंक के 24वें गवर्नर होंगे। वे गवर्नर बनने वाले आठवें डिप्टी गवर्नर होंगे। यहां जारी एक आधिकारिक बयान के अनुसार 52 वर्षीय पटेल को तीन साल के लिए रिजर्व बैंक का गवर्नर नियुक्त किया गया है। पटेल डिप्टी गवर्नर के तौर पर रिजर्व बैंक में मौद्रिक नीति विभाग को देखते रहे हैं। उन्हें राजन के महंगाई के खिलाफ लड़ने वाले सैनिक के तौर पर जाना जाता है।

उर्जित पटेल अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष, बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अलावा कई अन्य संगठनों में काम कर चुके हैं। राजन के चार सितंबर को रिजर्व बैंक के गवर्नर के पद से मुक्त होने पर वे केंद्रीय बैंक के गवर्नर का कार्यभार संभालेंगे। उर्जित पटेल उन कुछ लोगों में हैं जो कार्पोरेट जगत में काम करने के बाद रिजर्व बैंक के गवर्नर बने हैं। मिंट स्ट्रीट के इस शीर्ष पद पर अब तक ज्यादातर आर्थिक संस्थानों के अर्थशास्त्री और नौकरशाह ही बैठते रहे हैं।

मौजूदा गवर्नर रघुराम राजन की पहचान सरकार की विभिन्न आर्थिक और यहां तक कि गैर आर्थिक नीतियों की मुखर आलोचना करने वाले गवर्नर के तौर पर बनी है। हाल के महीनों में भारतीय जनता पार्टी के सांसद सुब्रमणयम स्वामी सहित विभिन्न वर्गों से उन पर राजनीतिक हमले होते रहे हैं। ये हमले उनकी नीतियों को लेकर हुए हैं। आलोचकों का आरोप है कि राजन ने आर्थिक वृद्धि को नजरंदाज करते हुए केवल महंगाई नियंत्रण पर ही ध्यान दिया।

रिजर्व बैंक के गवर्नर के तौर पर 53 वर्षीय राजन उन कुछेक व्यक्तियों में होंगे जिनका कार्यकाल सबसे कम रहा है। वे तीन साल का कार्यकाल पूरा कर चार सितंबर को पदमुक्त होंगे।
पटेल ने मौद्रिक नीति में सुधार को लेकर बनी समिति का नेतृत्व किया है। इसी समिति ने मुद्रास्फीति के बारे में मध्यकालिक लक्ष्य तय किए जाने का सुझाव दिया है। इसी समिति की रिपोर्ट के आधार पर मुद्रास्फीति लक्ष्य तय करने को लेकर रिजर्व बैंक और सरकार के बीच समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। येल विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में डाक्टरेट और आक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से एम फिल की डिग्री प्राप्त पटेल ने जनवरी, 2011 में डिप्टी गवर्नर के तौर पर रिजर्व बैंक में प्रवेश किया था और इसी साल जनवरी में उनका कार्यकाल बढ़ाया गया।

गवर्नर के पद पर पटेल की नियुक्ति को राजन की नीतियों को ही आगे बढ़ाने के तौर पर देखा जा रहा है। रिजर्व बैंक गवर्नर के पद पर पटेल की नियुक्ति ऐसे समय हुई है जब खुदरा मुद्रास्फीति छह फीसद से ऊपर निकल चुकी है और थोक मुद्रास्फीति भी 23 महीने के शीर्ष स्तर पर पहुंच गई है। पटेल को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के एनपीए की सफाई करने के अधूरे काम को भी आगे बढ़ाना होगा।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि उर्जित पटेल सफलतापूर्वक रिजर्व बैंक का नेतृत्व करेंगे और देश के आर्थिक विकास में योगदान देंगे। उद्योग जगत, विशेषज्ञों ने उर्जित पटेल को रिजर्व बैंक का गवर्नर नियुक्त किए जाने का जोरदार स्वागत करते हुए कहा है कि ऐसे समय में जब अर्थव्यवस्था कठिन दौर से गुजर रही है, नीतियों में निरंतरता बनाए रखने के लिहाज से यह सबसे बेहतर चयन है। पटेल के साथ डिप्टी गवर्नर एसएस मुंद्रा ने कहा कि हम सभी बहुत खुश हैं। एक साथी के तौर पर वे बेहतर निरंतरता और मेलजोल रखेंगे। उन्हें इस बात की बेहतर समझ है कि क्या चल रहा है।

ऐसा लगता है कि पटेल की नियुक्ति को भाजपा सांसद सुब्रमणियम स्वामी का भी समर्थन है। स्वामी ने मौजूदा गवर्नर रघुराम राजन पर उनकी नीतियों को लेकर लगातार हमला किया है। स्वामी ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों के सवालों के जवाब में कहा कि ऐसा सोचना काफी बेतुका होगा कि वे पटेल पर इसलिए हमला करें कि उनका (पटेल का) जन्म केन्या में हुआ है। पटेल रिजर्व बैं के आठवें डिप्टी गवर्नर हैं जिन्हें गवर्नर बनाया गया। इससे पहले वाईवी रेड्डी को गवर्नर बनाया गया था।

Read Also:

मोदी सरकार ने चुना RBI का नया गवर्नर, जानें कौन हैं उर्जित पटेल

RBI NEW GOVERNOR: महंगाई के मोर्चे पर राजन के मजबूत सिपाही माने जाते हैं उर्जित पटेल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग