ताज़ा खबर
 

बजट में टैक्स छूट के मल्हम से बाजार में ऊर्जा का संचार, सेंसेक्स 486 अंक उछला

सेंसेक्स और निफ्टी ने अक्तूबर, 2016 के बाद एक दिन की सबसे बड़ी तेजी दर्ज करते हुए 28,000 और 8700 का स्तर पुन: हासिल कर लिया।
Author मुंबई | February 2, 2017 00:44 am
शेयर बाज़ार में बुधवार (1 फरवरी) की स्थिति। (पीटीआई ग्राफिक्स)

आम बजट में राजकोषीय स्थिति दुरुस्त करने पर ध्यान दिए जाने और एफपीआई कराधान पर रुख स्पष्ट होने से शेयर बाजार झूम उठा और बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 486 अंक उछलकर तीन महीने के उच्च स्तर 28,142 अंक पर बंद हुआ। वित्तीय और रीयल्टी कंपनियों के शेयरों में तेजी का रुख रहा। बाजार ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में 10,000 करोड़ रुपए पूंजी डालने के बजटीय प्रस्ताव और दीर्घकालीन पूंजीगत लाभकर एवं अल्पकालीन कर की दर अपरिवर्तित रखे जाने का स्वागत किया। इसके अलावा, वित्त मंत्री अरुण जेटली ने प्रस्ताव किया कि वर्ग 1 और 2 के विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों को अप्रत्यक्ष अंतरण पर कराधान से मुक्त रखा जाना चाहिए। इससे निवेशक काफी खुश हुए। दोनों प्रमुख सूचकांकों- सेंसेक्स और निफ्टी ने अक्तूबर, 2016 के बाद एक दिन की सबसे बड़ी तेजी दर्ज करते हुए 28,000 और 8700 का स्तर पुन: हासिल कर लिया।

संसद में बजट पेश किए जाने के तुरंत बाद सेंसेक्स एक सीमित दायरे में डोलता रहा और फिर इसने चढ़ना शुरू किया और 485.68 अंक ऊपर 28,141.64 अंक पर बंद हुआ। पिछले साल 24 अक्तूबर के बाद से यह सेंसेक्स का सर्वोच्च बंद स्तर है। उस दिन सेंसेक्स 28,179.08 अंक पर बंद हुआ था। इसी तरह, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 155.10 अंक चढ़कर 8,716.40 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह दिन के उच्च स्तर 8,722.40 अंक पर चला गया था। जियोजित बीएनपी परिबा फाइनेंशियल सर्विसेज के अनुसंधान प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘शेयरों पर दीर्घकालीन पूंजीगत लाभ कर में कोई बदलाव नहीं किए जाने से सौदे की लागत को लेकर निवेशकों की आशंका दूर हुई। बजट ने बाजार को सकारात्मक गति प्रदान की। वर्ष 2017-18 में राजकोषीय घाटे को कम करके जीडीपी के 3.2 प्रतिशत पर लाने के लक्ष्य से बाजार की धारणा सकारात्मक हुई।’

बजट में ढांचागत क्षेत्र को रिकॉर्ड 3.96 लाख करोड़ रुपए आबंटित किया गया और किफायती आवास को ढांचागत क्षेत्र का दर्जा दिए जाने की घोषणा से रीयल्टी शेयरों में तेजी आई। इससे डीएलएफ, गोदरेज प्रापर्टीज, एचडीआईएल, ओबेराय रीयल्टी, प्रेस्टीज एस्टेट प्रोजेक्ट्स, शोभा लिमिटेड और युनिटेक के शेयर 6.74 प्रतिशत तक चढ़ गए। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों- एसबीआई, यूनियन बैंक, बैंक आफ बड़ौदा, पीएनबी और सिंडीकेट बैंक के शेयरों में 5.64 प्रतिशत तक की तेजी दर्ज की गई। सेंसेक्स में शामिल 30 में से 18 कंपनियों शेयरों में उछाल आया। मारुति सुजुकी 4.69 प्रतिशत, महिन्द्रा एंड महिन्द्रा 4.64 प्रतिशत, आईटीसी 4.51 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक 4.40 प्रतिशत, गेल 3.76 प्रतिशत और अडाणी पोर्ट्स 3.60 प्रतिशत चढ़कर बंद हुए।

बजट 2017: वित्त मंत्री अरुण जेटली का यह बजट अर्थव्‍यवस्‍था के लिए टॉनिक साबित होगा या नहीं?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग