ताज़ा खबर
 

ऑटो डाउनलोड होने वाले Video Ad के मुद्दे पर ट्राई सख़्त

एक अधिकारी ने कहा कि कुछ साइटों के साथ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अनचाहे विज्ञापन उपभोक्ता की जानकारी के बिना डाउनलोड हो जाते हैं।
Author नई दिल्ली | October 17, 2016 14:35 pm
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) इस महीने उद्योग विशेषज्ञों के साथ अनचाहे ऑनलाइन वीडियो विज्ञापनों के मुद्दे पर सत्र का आयोजन करेगा। इस तरह के विज्ञापन उपभोक्ता की जानकारी के बिना स्वत: डाउनलोड हो जाते हैं, जिससे उपभोक्ता की डेटा लागत बढ़ जाती है। अधिकारियों ने बताया कि हैदराबाद में 24 अक्तूबर को इस बारे में ट्राई द्वारा संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है जिसमें नियामक गहराई से इस मुद्दे की समीक्षा करेगा और देखेगा कि क्या इस तरह के डाउनलोड के नियमन की जरूरत है।

एक अधिकारी ने कहा कि कुछ साइटों के अलावा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इस तरह के अनचाहे विज्ञापन उपभोक्ता की जानकारी के बिना डाउनलोड हो जाते हैं, जिससे डेटा की खपत होती है। क्योंकि डेटा का इस्तेमाल में पारदर्शिता नहीं होती। अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि यह मुद्दा सामग्री या कंटेंट के नियमन का नहीं है। ट्राई इन ऑनलाइन विज्ञापनों के कंटेंट की जांच नहीं करेगा। अधिकारी ने कहा, ‘यह डेटा का इस्तेमाल गैर पारदर्शी तरीके से होने के बारे में है। 20 से 30 पैसे प्रति एमबी के हिसाब से डेटा महंगा है। इस मुद्दे की समीक्षा करने की जरूरत है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग