December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

‘स्पेक्ट्रम नीलामी के बाद कॉल ड्रॉप में आएगा सुधार’

अक्तूबर-दिसंबर 2015 में 2जी नेटवर्क की 195 की संख्या में से 54 नेटवर्क ऐसे थे जो कि सेवा को गुणवत्ता मानकों पर खरे नहीं उतर रहे थे जिसकी वजह से कॉल ड्रॉप की समस्या बढ़ गई थी।

Author चंडीगढ़ | October 22, 2016 21:08 pm
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

दूरसंचार सचिव जे. एस. दीपक ने कहा है कि हाल में संपन्न हुई स्पेक्ट्रम नीलामी से मोबाइल उपभोक्ताओं को कॉल ड्रॉप की समस्या से बड़ी राहत मिल सकती है क्योंकि इससे स्पेक्ट्रम की कमी की समस्या का समाधान हो जाएगा। जनता से जुड़े एक कार्यक्रम से इतर दीपक ने शुक्रवार (21 अक्टूबर) को यहां कहा कि स्पेक्ट्रम की कमी कॉल ड्रॉप की समस्या के पीछे एक अहम वजह है। हमने हाल ही में स्पेक्ट्रम की नीलामी की है और इससे स्पेक्ट्रम की कमी लगभग खत्म हो जाएगी। अब जब दूरसंचार सेवाप्रदाता छह से आठ महीने में नेटवर्क का विस्तार करेंगे तो कॉल ड्रॉप से बड़ी राहत मिलेगी।

कॉल ड्राप की समस्या को दूर करने के लिए उठाये जा रहे दूसरे कदमों के बारे में सचिव ने कहा कि कॉल ड्रॉप के मामले में गुणवत्ता मानकों पर खरे नहीं उतरने वाले 2जी नेटवर्क की संख्या में काफी कमी आई है। उन्होंने कहा, ‘अक्तूबर-दिसंबर 2015 में 2जी नेटवर्क की 195 की संख्या में से 54 नेटवर्क ऐसे थे जो कि सेवा को गुणवत्ता मानकों पर खरे नहीं उतर रहे थे जिसकी वजह से कॉल ड्रॉप की समस्या बढ़ गई थी। जून 2016 में विभिन्न उपायों के साथ यह संख्या 54 से घटकर 19 रह गई।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 22, 2016 9:08 pm

सबरंग