ताज़ा खबर
 

शेयर बाजार अपडेट, 15 नवंबर 2017: व्यापार घाटे के 3 साल के उच्च स्तर पर पहुंचने का असर स्टॉक मार्केट पर, 181 प्वाइंट्स गिरा सेंसेक्स

Nifty, NSE, BSE Share/Stock Price Today: बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स बुधवार को 32,944.94 अंक पर ऊंचा खुला, लेकिन यह जल्द नकारात्मक दायरे में आ गया।
Author मंबई | November 15, 2017 17:08 pm
बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज।

बंबई शेयर बाजार में बुधवार को लगातार तीसरे दिन गिरावट का सिलसिला कायम रहा। व्यापार घाटे के तीन साल के उच्च स्तर पर पहुंचने के बीच सेंसेक्स 181 अंक और टूट गया। इसके अलावा कुछ बड़ी कंपनियों के निराशाजनक तिमाही नतीजों से भी निवेशक हतोत्साहित हुए।
बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स बुधवार को 32,944.94 अंक पर ऊंचा खुला, लेकिन यह जल्द नकारात्मक दायरे में आ गया। अंत में सेंसेक्स 181.43 अंक या 0.55 प्रतिशत के नुकसान से 32,760.44 अंक पर आ गया। इससे पिछले दो सत्रों में सेंसेक्स 372.69 अंक टूटा है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 68.55 अंक या 0.67 प्रतिशत के नुकसान से 10,118.05 अंक पर बंद हुआ।

कारोबार के दौरान यह 10,175.45 से 10,094 अंक के दायरे में रहा। कारोबारियों ने कहा कि देश का निर्यात करीब एक साल बाद फिर नकारात्मक दायरे में आ गया है जिससे यहां कारोबारी धारणा प्रभावित हुई। अक्टूबर में निर्यात 1.12 प्रतिशत घटा है। पिछले महीने व्यापार घाटा बढ़कर 14 अरब डॉलर पर पहुंच गया, जो इसका तीन साल का उच्च स्तर है। एशियाई बाजारों के कमजोर रुख तथा यूरोपीय बाजारों की नुकसान के साथ शुरुआत, तेल कीमतों में गिरावट और अमेरिका में कर सुधारों को लेकर असमंजस से भी कारोबारी धारणा प्रभावित हुई।

वहीं, मंगलवार को मुद्रास्फीति का आंकड़ा ऊपर जाने से देश के शेयर बाजारों में गिरावट रही। बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स कारोबार के दौरान कई बार 33,000 अंक से ऊपर गया लेकिन अंतत: कारोबारी धारणा कमजोर पड़ने से यह 91.69 अंक गिरकर 32,941.87 अंक पर बंद हुआ था। बाजार सूत्रों का कहना था कि मुद्रास्फीति बढ़ने से रिजर्व बैंक के समक्ष ब्याज दर में कटौती की गुंजाइश कम होगी जिसका औद्योगिक गतिविधियों पर बुरा असर होगा। थोक मुद्रास्फीति के मंगलवार को जारी अक्टूबर माह के आंकड़े में यह छह माह के उच्चस्तर 3.59 प्रतिशत पर पहुंच गई थी। खुदरा मुद्रास्फीति भी सात माह के उच्चस्तर पर पहुंच गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.