December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

फेडरल रिजर्व की बैठक से पहले सेंसेक्स 54 अंक गिरकर 28,000 से नीचे

कारोबारियों की नजर अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव के अंतिम चरण पर टिकी है। जापानी केन्द्रीय बैंक की बैठक पर भी उसकी नजर थी। बैंक ने नीतिगत दरों को स्थिर रखा है।

Author मुंबई | November 1, 2016 20:01 pm
शेयर बाजार (फाइल फोटो)

अमेरिका के केन्द्रीय बैंक ‘फेडरल रिजर्व’ की बैठक से पहले मंगलवार (1 नवंबर) को उतार चढ़ाव भरे कारोबार में बंबई शेयर बाजार का संवेदी सूचकांक 53.60 अंक घटकर 27,876.61 अंक पर बंद हुआ। सूचना प्रौद्योगिकी और कुछ अन्य कंपनियों के शेयरों में बिकवाली दबाव से बाजार में गिरावट आई। देश के विनिर्माण क्षेत्र का प्रदर्शन अक्तूबर महीने में जोरदार रहने से लिवाली को बढ़ावा मिला तो दूसरी तरफ ‘भाई दूज’ के कारण कारोबारी हल्का-फुल्का कारोबार ही कर रहे थे। निक्केई मार्किट इंडिया मैन्युफैक्चरिंग पर्चेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (पीएमआई) अक्तूबर में बढ़ता हुआ 54.4 पर पहुंच गया। सितंबर में यह 52.1 अंक पर था। इससे देश में विनिर्माण क्षेत्र के जोरदार प्रदर्शन का संकेत मिलता है। विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि अक्तूबर में पिछले 22 माह की ऊंचाई पर पहुंच गई।

कारोबारियों की नजर अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव के अंतिम चरण पर टिकी है। जापानी केन्द्रीय बैंक की बैठक पर भी उसकी नजर थी। बैंक ने नीतिगत दरों को स्थिर रखा है। इसके अलावा कारोबारी अमेरिका के फेडरल रिजर्व की आज देर शाम शुरू होने वाली बैठक पर भी नजरें टिकाए हुए हैं। इस बैठक में दिसंबर में ब्याज दरों में की जाने वाली वृद्धि के बारे में कोई संकेत मिल सकता है। ऑटोमोबाइल कंपनियों के अक्तूबर के बिक्री आंकड़ों से कारोबारी धारणा बेहतर हुई तो चीन का पीपीआई कई साल की ऊंचाई पर पहुंचने से धातु कंपनियों के शेयरों में वृद्धि दर्ज की गई। बाजार में आज एक तरफ जहां सूचना प्रौद्योगिकी, टिकाऊ उपभोक्ता सामान, प्रौद्योगिकी कंपनियों, स्वास्थ्य देखभाल और रोजमर्रा के उपभोग का सामान बनाने वाली कंपनियों के शेयरों में बिकवाली रही वहीं दूसरी तरफ धातु, वाहन, बिजली और अन्य नागरिक सुविधायें उपलब्ध कराने वाली कंपनियों के शेयरों में खरीदारी का जोर रहा।

बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स कारोबार की शुरुआत में 27,966.18 अंक पर ऊंचा खुला और लिवाली-बिकवाली का जोर चलने से एक समय ऊंचे में 28,029.80 अंक और नीचे में 27,845.63 अंक तक गिरने के बाद समाप्ति पर 53.60 अंक यानी 0.19 प्रतिशत नीचे रहकर 27,876.61 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी सूचकांक करीब करीब स्थिर रहा। पिछले कारोबारी सत्र के मुकाबले यह 0.55 अंक यानी 0.01 प्रतिशत नीचे रहकर आज (मंगलवार, 1 नवंबर) 8,626.25 अंक पर बंद हुआ। बाजार सोमवार को ‘बलि प्रतिपदा’ के अवसर पर बंद था।

बीएसई के सेंसेक्स में शामिल 30 कंपनी शेयरों में से 20 में नुकसान रहे जबकि 10 में लाभ दर्ज किया गया। नुकसान उठाने वाले प्रमुख शेयरों में एक्सिस बैंक का शेयर मूल्य 2.53 प्रतिशत, टीसीएस का 1.96 प्रतिशत, सनफार्मा का 1.92 प्रतिशत, इनफोसिस का 1.36 प्रतिशत, सिप्ला 1.09 प्रतिशत, विप्रो 0.88 प्रतिशत, आईटीसी 0.85 प्रतिशत और लॉर्सन एण्ड टुब्रो 0.82 प्रतिशत गिर गया। बढ़त दर्ज करने वालों में टाटा स्टील 3.23 प्रतिशत बढ़ गया। कंपनी ने सोमवार को घोषणा की थी कि उसके 4,000 करोड़ रुपए के गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर के लिए ब्रिकवर्क रेटिंग ने कंपनी की क्रेडिट रेटिंग को नकारात्मक परिदृश्य के साथ बीडब्ल्यूआर एएप्लस से घटाकर बीडब्ल्यूआर एए कर दिया है। इसके अलावा एचडीएफसी का शेयर 2.59 प्रतिशत, एनटीपीसी 2.48 प्रतिशत, कोल इंडिया 1.18 प्रतिशत, पावर ग्रिड 1.14 प्रतिशत और एचडीएफसी बैंक का शेयर 0.50 प्रतिशत बढ़ गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 1, 2016 8:01 pm

सबरंग