ताज़ा खबर
 

सेंसेक्स में लगातार 7वें दिन गिरावट, शेयर बाज़ार 263 अंक टूटकर 25979 पर बंद

निफ्टी भी 82.20 अंक या 1.02 प्रतिशत के नुकसान से 7,979.10 अंक पर बंद हुआ।
Author मुंबई | December 22, 2016 20:37 pm
शेयर बाज़ार में गुरुवार (22 दिसंबर) का हाल। (पीटीआई ग्राफिक्स)

घरेलू शेयर बाजारों में गुरुवार (22 दिसंबर) को लगातार सातवें दिन गिरावट का सिलसिला जारी रहा। किसी उत्प्रेरक घटनाक्रम के अभाव तथा नोटबंदी की वजह से तिमाही नतीजों पर प्रभाव पड़ने की आशंका के बीच सेंसेक्स करीब 263 अंक के नुकसान से 26,000 अंक से नीचे आ गया। मार्च, 2015 के बाद यह सेंसेक्स में गिरावट का सबसे लंबा सिलसिला है। वैश्विक स्तर पर भी बाजारों में गिरावट आई। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 8,000 अंक से नीचे करीब एक महीने के निचले स्तर पर आ गया। निफ्टी में यह जून, 2015 के बाद गिरावट का सबसे लंबा सिलसिला है। बाजार भागीदार अब जीएसटी परिषद की दो दिन की महत्वपूर्ण बैठक का इंतजार कर रहे हैं। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स कमजोर रुख से खुलने के बाद दिन के निचले स्तर 25,940.14 अंक तक नीचे आ गया, बाद में यह मामूली सुधार के साथ 262.78 अंक या एक प्रतिशत के नुकसान के साथ 25,979.60 अंक पर बंद हुआ। यह 24 नवंबर के बाद सेंसेक्स का सबसे निचला बंद स्तर है। उस दिन सेंसेक्स 25,860.17 अंक पर बंद हुआ था। पिछले छह सत्रों में सेंसेक्स 455.44 अंक टूट चुका है।

निफ्टी भी 82.20 अंक या 1.02 प्रतिशत के नुकसान से 7,979.10 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 8,046.45 से 7,964.95 अंक के दायरे में रहा। मिडकैप में 1.47 प्रतिशत तथा स्मालकैप में 1.25 प्रतिशत का नुकसान रहा। जियोजित बीएनपी परिबा फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘घरेलू संकेतकों के अभाव में बाजार का प्रदर्शन कमजोर है। जीएसटी परिषद की बैठक पर सभी की निगाह है। इसके अलावा उपभोक्ता आधारित कंपनियों के तीसरी तिमाही के नतीजे प्रभावित होने की आशंका है।’ जापान की वित्तीय सेवा क्षेत्र की कंपनी नोमुरा का अनुमान है कि नकदी संकट की वजह से भारतीय अर्थव्यवस्था को रिजर्व बैंक के अनुमान से कहीं अधिक नुकसान होगा। नवंबर के अंत तक पी-नोट्स के जरिये घरेलू पूंजी बाजार में निवेश तीन साल के निचले स्तर 1.79 लाख करोड़ रुपए पर आ गया है। सेंसेक्स के 30 शेयरों में अदाणी पोर्ट्स सबसे अधिक 3.56 प्रतिशत टूटा। टाटा स्टील में 3.09 प्रतिशत की गिरावट आई। अन्य कंपनियों में ओएनजीसी, भारती एयरटेल, टाटा स्टील, एनटीपीसी, एलएंडटी, इन्फोसिस तथा एसबीआई में भी नुकसान रहा।

वहीं दूसरी ओर आईटीसी का शेयर 0.51 प्रतिशत तथा एशियन पेंट्स 0.38 प्रतिशत चढ़ गया। अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार (21 दिसंबर) को शुद्ध रूप से 1,178.08 करोड़ रुपए के शेयर बेचे। विभिन्न वर्गों के सूचकांकों में धातु में सबसे अधिक 2.78 प्रतिशत की गिरावट आई। बुनियादी ढांचा क्षेत्र में 2.06 प्रतिशत, टिकाऊ उपभोक्ता सामान में 1.90 प्रतिशत तथा बिजली में 1.67 प्रतिशत का नुकसान रहा। एशियाई बाजारों में जापान का निक्की 0.09 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंट 0.80 प्रतिशत नीचे आया। हालांकि, शंघाई कम्पोजिट 0.07 प्रतिशत चढ़ गया। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार नीचे चल रहा था। सेंसेक्स के 30 शेयरों में 27 नुकसान में रहे, तीन में लाभ रहा। बाजार में 1,995 शेयर नुकसान में रहे, 655 में लाभ रहा। 145 शेयरों के भाव में बदलाव नहीं हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.