ताज़ा खबर
 

शेयरों में निवेश की सलाह देने वालों पर सेबी सख्त

पूंजी बाजार नियामक ने निवेश सलाहकारों से जुड़े नियमनों को पूरी तरह से खंगालने और उनकी नए सिरे से समीक्षा करने का प्रस्ताव भी किया है।
Author नई दिल्ली | October 9, 2016 02:29 am
भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड। (SEBI File Photo)

शेयरों में निवेश के बारे में अवैध रूप से टिप देने वाले धोखेबाज सलाहकारों को लेकर सेबी ने सख्ती दिखाई है और इन पर रोक लगाने का प्रस्ताव किया है। अवैध रूप से एसएमएस, वाट्सअएप, ट्विटर, फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म के जरिए निवेशकों को विभिन्न शेयरों में निवेश की सलाह देने वालों पर सेबी ने रोक लगाने का प्रस्ताव किया है। सेबी ने इसके साथ ही प्रतिभूति बाजार से जुड़ी लीग, प्रतिस्पर्धाओं और गेम्स पर भी रोक लगाने का प्रस्ताव रखा है।

पूंजी बाजार नियामक ने निवेश सलाहकारों से जुड़े नियमनों को पूरी तरह से खंगालने और उनकी नए सिरे से समीक्षा करने का प्रस्ताव भी किया है। सेबी ने इलेक्ट्रानिक और प्रसारण मीडिया प्लेटफार्म के जरिए अवैध रूप से निवेश सलाह और निवेश उत्पादों को प्रोत्साहन देने वालों पर भी शिकंजा कसने की बात की है। सेबी ने आॅनलाइन निवेश सलाह देने वाली सेवाओं और आटोमेशन या रोबोटिक साधनों के इस्तेमाल को लेकर बेहतर निगरानी और संतुलन की जरूरत बताई है।

सेबी ने इस संबंध में विस्तृत परिचर्चा पत्र जारी किया है जिसमें उसने निवेश सलाहकारों की ओर से अपने संभावित ग्राहक के लिए ‘निशुल्क परीक्षण’ पेशकश के प्रस्ताव पर भी रोक लगाने को कहा है। सेबी ने पंजीकृत शोध विश्लेषक के लिए भी सभी तरह के निवेशकों को अपनी शोध रिपोर्ट तत्काल उपलब्ध कराने को कहा है। सेबी इस मामले में निवेशक सलाहकार और शोध विश्लेषकों की समूची गतिविधियों के मामले में पूरी तरह स्पष्टता चाहता है। सेबी ने निवेश सलाहकारों के लिए ग्राहकों के स्पष्ट नियम शर्तें भी उपलब्ध कराने को कहा है। उसने कहा है कि कम से कम दो दिन पहले ग्राहक को ‘अधिकार और दायित्व’ दस्तावेज उपलब्ध कराया जाना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग