December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

बैंकों में अब सोमवार को बदले जाएंगे 500 और 1000 के पुराने नोट, रविवार को रहेगी छुट्टी

स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) में श्‍ानिवार (19 नवंबर) को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट नहीं बदले जाएंगे।

500 के नोट देकर 2000 के नए नोट लेती महिला। (PTI File Photo)

देशभर के बैंकों में श्‍ानिवार (19 नवंबर) को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट नहीं बदले जाएंगे। हालांकि वरिष्‍ठ नागरिक 2000 रुपये तक के नोट बदलवा सकते हैं। वहीं रविवार को बैंक बंद रहेंगे। भारतीय बैंक एसोसिएशन के प्रमुख राजीव ऋषि ने बताया, ” पूरे देश में अब बैंकों में भीड़ कम दिख रही है।” इससे पहले स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) की प्रमुख अरुंधति भट्टाचार्य ने एक न्‍यूज चैनल से बातचीत में कहा था कि शनिवार को एसबीआई बैंकों में नोट नहीं बदले जाएंगे। एसबीआर्इ बैंकों में नोट बदलने का काम अब सोमवार (21 नवंबर) को ही होगा। 19 तारीख को आम दिनों की तरह काम होगा। उन्‍होंने कहा कि नोटबंदी केे बाद के 10 दिन उनकेे जीवन के सबसे चुनौतीपूर्ण लेकिन संतुष्टिदायक रहे। एसबीआई चीफ ने कहा कि बैंकों में अब कामकाज पुरानेे दिनों की तरह पटरी पर लौट रहा है। हालांकि उन्‍होंने कहा  कि अभी 500 रुपये के नोटों की कमी का सामना करना पड़ रहा है।

वर्तमान में बैंकों के बाहर लंबी लाइनों को लेकर उन्‍होंने कहा कि किसी भी परिस्थिति का सामना करने में समय तो लगता ही है। गांवों में पैस्‍े पहुंचाने के लिए मोबाइल एटीएम भेजे जा रहे हैं। बड़ी मंडियों में लेनदेन पर कोई विशेष असर नहीं पड़ा है। भट्टाचार्य ने बताया कि पिछले 10 दिन में एसबीआई में 1.40 लाख करोड़ रुपये जमा हुए है और 26 हजार करोड़ रुपये बांटे गए हैं। जनधन खातों में 2000 करोड़ रुपये जमा हुए हैं। जनधन खातों के दुरुपयोग पर उन्‍होंने कहा कि इस तरह का मामला सामने आने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अरुंधति भट्टाचार्य ने कहा कि आने वाले समय में लोन पर ब्‍याज दरों में कमी होगी।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर को देश के नाम संबोधन में 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बंद करने का एलान किया था। इसके साथ ही 2000 रुपये और 500 रुपये का नया नोट चलन में आया था। इसके बाद से पुराने नोटों को बदलवाने के लिए लोगों को लंबी कतारों में खड़ा रहना पड़ रहा है। ज्‍यादातर एटीएम मशीनों में पैसेे नहीं है। वहीं सरकार ने पैसों को बदलवाने और जमा कराने के नियमों में भी बदलाव किया है। पहले एक दिन में एक व्यक्ति एटीएम से 2000 रुपए निकाल सकता था। इसके साथ ही पहले पुराने नोट बदलने के लिए सीमा 4000 रखी गई थी, जिसे बढ़ाकर 4500 कर दिया गया था, लेकिन बाद में उसे घटाकर 2000 रुपए कर दिया गया।

इसके साथ ही एक व्यक्ति एक सप्ताह में बैंक अकाउंट से 20000 रुपए निकाल सकते हैं, जिसे बाद में बढ़ाकर 24 हजार रुपए कर दिया गया था। साथ ही गुरुवार को सरकार ने दूल्हा, दुल्हन या उनके माता-पिता को बैंक खाते से ढाई लाख रुपए तक नकदी निकासी की अनुमति दी है। किसान और छोटे व्यापारी अब बैंकों से सप्ताह में 50,000 रुपए तक की नकदी निकाल सकेंगे। सरकार ने किसानों को उनके बैंक खाते में पहुंचे फसली लोन से हर सप्ताह 25,000 रुपए तक निकालने की अनुमति देने का फैसला किया है। यह सीमा किसान क्रेडिट कार्ड पर भी लागू होगी। इसके अलावा यदि किसानों को चेक अथवा आरटीजीएसी के जरिये उनके बैंक खाते में भुगतान मिलता है तो वह प्रति सप्ताह 25,000 रुपए तक की अतिरिक्त राशि निकाल सकेंगे। कृषि उत्पादन विपणन समिति (एपीएमसी) पंजीकृत व्यापारी अब सप्ताह में 50,000 रुपए तक की निकासी कर सकेंगे।

वीडियो: जानिए ATM और बैंकों के बाहर कतारों में खड़े लोग क्या सोचते हैं नोटबंदी के बारे में:

Speed News: जानिए दिन भर की पांच बड़ी खबरें:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 18, 2016 7:59 pm

सबरंग