December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

बिना ID प्रूफ के बदलवा सकेंगे पुराने नोट, 2000 रुपए के नोट सिर्फ बैंक से मिलेंगे, ATM से नहीं: SBI चीफ

अरुंधती भट्टाचार्य ने कहा, “दूसरे दिनों के मुकाबले गुरुवार को 20 फीसदी ज्यादा काम देखने को मिला है। ग्राहकों की सुविधा के लिए बैंकों को इस शनिवार और रविवार को भी खोला जाएगा।”

गुरुवार को बैंक खुले तो नोट जमा करने वालों की भीड़ उमड़ पड़ी। (Source: ANI)

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की चेयरपर्सन अरुंधती भट्टाचार्य ने गुरुवार को बताया कि 2000 रुपए के नोट सिर्फ बैंक में उपलब्ध होंगे, एटीएम में नहीं। इसके अलावा उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि एसबीआई की ब्रांच में पैसे डालने या एक्सचेंज कराने के लिए आईडी कार्ड की फोटोकॉपी की भी जरूरत नहीं होगी। कालेधन के खिलाफ बड़ा कदम उठाते हुए मोदी सरकार ने 8 नवंबर की मध्यरात्री से ही 500 रुपए और 1000 रुपए के नोट को बंद करने का एलान किया था। जिसके बाद एक दिन के लिए सभी बैंकों और दो दिन के लिए एटीएम को बंद रखा गया था। गुरुवार से सभी बैंक और कुछ एटीएम खुले थे, वहीं शुक्रवार से सभी एटीएम भी खुल गए हैं।

गुरुवार को हुई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसबीआई चेयरपर्सन अरुंधती भट्टाचार्य ने कहा, “दूसरे दिनों के मुकाबले गुरुवार को 20 फीसदी ज्यादा काम देखने को मिला है। ग्राहकों की सुविधा के लिए बैंकों को इस शनिवार और रविवार को भी खोला जाएगा।” उन्होंने कहा कि विदेश में रह रहे भारतीय अगर पैसा जमा कराना या बदलना चाहते हैं तो उसके लिए खुद ही ब्रांच आना अनिवार्य नहीं है। हालांकि इसके लिए उन्हें अथॉरिटी लैटर के साथ किसी और को भेजना होगा।

अरुंधती भट्टाचार्या ने यह भी बताया कि पूरे देश में बैंक की 7000 से ज्यादा कैश डिपॉजिट मशीने काम करने लगेंगी, जिनकी मदद से बैंक की ब्रांच में जाए बिना लोग पैसे जमा कर पाएंगे। अरुंधती भट्टाचार्या ने यह भी जानकारी दी कि बारह हजार से ज्यादा लेन-देन साढ़े तीन बजे तक दर्ज किए गए।

500 और 1000 रुपए के नोटों को बदलवाने के लिए बैंकों के बाहर दिखी लोगों की लंबी कतारें

पैसे मिलने में हो रही परेशानी:

देशभर के सभी एटीएम को शुक्रवार से शुरू किया गया है, लेकिन फिर भी लोगों को पैसे मिलने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। जहां अधिकतर एटीएम के आगे लंबी-लंबी लाइने लगी हैं, वहीं कुछ एटीएम में कैश जल्दी ही खत्म हो गया। इसके अलावा कुछ एटीएम अभी भी शुरू नहीं हो पाए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 11, 2016 12:49 pm

सबरंग