ताज़ा खबर
 

लगातार तीसरे साल स्विस बैंकों में जमा भारतीयों के धन में आई कमी, 61वें स्थान से फिसलकर 88वें स्थान पर पहुंचा भारत

साल 2007 तक स्विस बैंकों में विदेशियों के जमा धन के मामले में भारत टॉप 50 देशों में शामिल था।
प्रतिकात्मक फोटो (फोटो स्रोत: थिंकस्टॉक इमेज)

स्विट्जरलैंड के बैंकों में रखे धन के मामले में भारत फिसलकर 88वें स्थान पर आ गया है। वहीं ब्रिटेन पहले पायदान पर बना हुआ है। स्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) के ताजा आंकड़ों के विश्लेषण के अनुसार भारतीयों द्वारा रखा गया धन विदेशी ग्राहकों के स्विस बैंकों में रखे कोष का केवल 0.04 प्रतिशत है। भारत 2015 में 75वें स्थान पर जबकि इससे पहले 2014 में यह 61वें स्थान पर था। साल 2007 तक स्विस बैंकों में विदेशियों के जमा धन के मामले में भारत टॉप 50 देशों में शामिल था। साल 2004 में भारत इस मामले में 37वें स्थान पर था। काले धन की समस्या के समाधान के लिए स्विट्जरलैंड और भारत के बीच सूचना के स्वत: आदान-प्रदान के लिए नए मसौदे से पहले ज्यूरिख स्थित एसएनबी ने यह आंकड़ा जारी किया। एसएनबी के इन आंकड़ों में इस बात का जिक्र नहीं है कि भारतीयों, प्रवासी भारतीयों या विभिन्न देशों की इकाइयों के नाम पर अन्य ने कितना-कितना धन जमा किया हुआ है। स्विट्जरलैंड में बैंकिंग गोपनीयता के खिलाफ वैश्विक अभियान के बाद ऐसी धारणा है कि जिन भारतीयों ने अपना अवैध धन पूर्व में स्विस बैंकों में रखा था, वे उन्हें दूसरी जगहों पर स्थानांतरित कर सकते हैं।

काले धन के खिलाफ जारी कार्रवाई के बीच स्विस बैंकों ने यह भी कहा कि सिंगापुर तथा हांगकांग जैसे वैश्वकि वित्तीय केंद्रों की तुलना में भारतीयों के स्विस बैंकों में ‘कुछ ही जमा राशि’ हैं। दुनिया भर के विदेशी ग्राहकों का स्विस बैंकों में जमा धन मामूली रूप से बढ़कर 2016 में 1,420 अरब स्विस फ्रैंक (सीएचएफ) हो गई जो इससे पिछले साल में 1,410 अरब स्विस फ्रैंक थी। देश के हिसाब से देखा जाए तो स्विस बैंकों में जमा धन के मामले में ब्रिटेन सबसे आगे है। वहां के नागरिकों की जमा राशि 359 अरब स्विस फ्रैंक (25 फीसदी) है। अमेरिका 177 अरब स्विस फ्रैंक (14 प्रतिशत) के साथ दूसरे स्थान पर है। इसके अलावा किसी अन्य देश की हिस्सेदारी दहाई अंक में नहीं है। शीर्ष 10 देशों में वेस्टइंडीज, फ्रांस, बहमास, जर्मनी, गुएर्नसे, जर्सी, हांगकांग तथा लक्जमबर्ग हैं। दूसरी तरफ स्विस बैंक में जमा भारत का कुल धन एक फीसदी भी नहीं है। स्विस बैंक में काला धन जमा कराने के मामले में 88वें स्थान पर काबिज भारत का महज 4,500 करोड़ ही अब इस बैंक में जमा है। सूत्रों के अनुसार लगातार तीसरे साल भारत की तरफ से काला धन जमा कराने के मामले में बड़े पैमाने पर कमी आई है। दूसरी तरफ पाकिस्तान इस मामले में 71वें स्थान पर काबिज है जबिक साल 2015 ये देश 69वें स्थान पर था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग