December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

रामदेव ने बिना सरकारी मंजूरी के नेपाल में निवेश किया: रिपोर्ट

योग गुरू रामदेव नेपाल में निवेश को लेकर कथित तौर पर विवादों में फंस गये हैं क्यों कि मीडिया की रपटों में यह दावा किया गया है कि पतंजलि आयुर्वेद समूह ने बिना आधिकारिक मंजूरी के देश में 150 करोड़ रुपए से अधिक निवेश किया है।

Author काठमांडो | November 29, 2016 16:32 pm

योग गुरू रामदेव नेपाल में निवेश को लेकर कथित तौर पर विवादों में फंस गये हैं क्यों कि मीडिया की रपटों में यह दावा किया गया है कि पतंजलि आयुर्वेद समूह ने बिना आधिकारिक मंजूरी के देश में 150 करोड़ रुपए से अधिक निवेश किया है। विदेशी निवेश एवं प्रौद्योगिकी स्थानांतरण कानून के तहत यह जरूरी है कि किसी भी विदेशी निवेशक को हिमालयी देश में निवेश से पहले नेपाल निवेश बोर्ड या औद्योगिक विभाग से मंजूरी हासिल करना जरूरी है। अखबार कांतिपुर डेली की रिपोर्ट के मुताबिक रामदेव इस प्रकार की जरूरी मंजूरी लेने में विफल रहे।
इस बीच, रामदेव ने कल बयान जारी कर कहा कि कंपनी ने नेपाल में काम करते समय किसी भी स्थानीय कानून का उल्लंघन नहीं किया है।
बयान में कहा गया है कि पतंजलि आयुर्वेद लि. का प्रस्तावित निवेश सभी जरूरी कानूनी प्रक्रियाओं को पूरी करने के बाद ही अमल में आएगा।

इन दिनों रामदेव बाबा पहले से ही नोटबंदी पर दिए गए बयानों के जरिए चर्चा में है। हाल ही बाबा ने नरेंद्र मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले की कड़वी दवा से तुलना करते हुए योग गुरू रामदेव ने आज कहा कि 500 और 1,000 रुपए के पुराने नोटों को चलन से बाहर करने के कदम का देश की अर्थव्यवस्था पर आने वाले दिनों में अच्छा असर होगा। रामदेव ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘नोटबंदी से हालांकि आम लोगों को फिलहाल कुछ समस्याएं हो रही हैं। लेकिन यह थोडे़ ही दिनों की बात है। नोटबंदी देश की अर्थव्यवस्था के लिये कड़वी दवा के रूप में है। भविष्य मेंं इस फैसले का अर्थव्यवस्था पर अच्छा प्रभाव पडे़गा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 29, 2016 4:31 pm

सबरंग