ताज़ा खबर
 

इस बैंक के खाताधारकों पर पड़ेगा ज्यादा बोझ, इन-इन सर्विस पर देने होंगे ज्यादा पैसे

एक ग्राहक को 5,000 रुपये नकद से ऊपर प्रति 1,000 रुपये पर एक रुपये शुल्क देना होगा। यह शुल्क इस प्रकार की जमा पर न्यूनतम 25 रुपये होगा।
Author August 6, 2017 19:08 pm
पीएनबी 22 शाखाओं में 25 प्रतिशत प्रीमियम शुल्क लागएगा। (संकेतात्मक तस्वीर)

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के ग्राहकों को सितंबर से बैंक की दूसरी शाखा में 5,000 रुपये से अधिक नकद जमा करने पर शुल्क का भुगतान करना होगा। अगर शाखा उसी शहर में स्थित में है तो भी शुल्क देना होगा। फिलहाल पीएनबी ग्राहकों को शहर के अंदर दूसरी शाखा में 25,000 रुपये से अधिक जमा करने पर ही शुल्क देना होता है। पीएनबी ने ग्राहकों को भेजी सूचना में कहा, ‘‘ऋण के अलावा दूसरे मामलों में शुल्क (जीएसटी शामिल नहीं) संशोधित करने का निर्णय किया गया है। इसके तहत आधार शाखा के अलावा शहर की दूसरी शाखा में 5,000 रुपये से अधिक जमा करने पर शुल्क लगेगा।’’

एक ग्राहक को 5,000 रुपये नकद से ऊपर प्रति 1,000 रुपये पर एक रुपये शुल्क देना होगा। यह शुल्क इस प्रकार की जमा पर न्यूनतम 25 रुपये होगा। दूसरे शहर की शाखा में एक सितंबर से 5,000 रुपये तक जमा मुफ्त होगा। फिलहाल यह सीमा 25,000 रुपये है। पांच हजार रुपये से अधिक जमा पर न्यूनतम 25 रूपये और प्रति 1,000 रुपये या उसके अंश पर दो रुपये न्यूनतम शुल्क लगेगा। ऐसी जमा पर न्यूनतम शुल्क 25 रुपये होगा।

बैंक ने चैक वापस लोटने को लेकर भी शुल्क में संशोधन किया है। इसके तहत एक करोड़ रुपये से अधिक भुगतान वाले चैक की वापसी पर 2,000 रुपये तथा उसके बाद चैक बाउंस होने पर 2,500 रुपये शुल्क लगेगा। साथ ही पीएनबी ने महानगरों में विभिन्न प्रकार की लॉकर सुविधा शुल्क भी बढ़ाया है। लॉकर किराये में 25 प्रतिशत की वृद्धि की गयी है। इसके तहत महानगरों में छोटे, मझाले एवं बड़े और अधिक बड़े आकार के लॉकर के लिये शुल्क क्रमश: 1500 रुपये, 3,500 रुपये, 5,500 रुपये तथा 10, रुपये होगा।

इससे पहले ये शुल्क 1,200, 2,800, 4,500 और 8,000 रुपये थे। इसके अलावा पीएनबी 22 शाखाओं में 25 प्रतिशत प्रीमियम शुल्क लागएगा। इन 22 शाखाओं में 19 दिल्ली में और एक गुड़गांव और दो फरीदाबाद में हैं। इन शुल्कों पर 18 प्रतिशत जीएसटी और लगेगा। पहले इन सेवाओं पर कर की दर 15 प्रतिशत थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Y
    yatinderaggarwal
    Aug 6, 2017 at 8:19 pm
    लगता है की बैंकिंग मंत्रालय ग्राहकों को लूटने की तैयारी में लगा हुआ है. स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया पहले ही अपने चार्जेज बढ़ा चूका है. रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने बैंको को उधार पर ब्याज दर कम कर दी हैं फिक्स्ड डिपॉजिट्स पे ब्याज दर पहले ही काम थी अब और कम हो जाएँगी और स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने बचत खाते की ब्याज दर कम कर दी हैं. लगता है की इन बैंको को न तो कोई खाते चाहियें न ही ग्राहक. शुक्र है की मैंने अपने जमा खता स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया से हटा दिया है.
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग