May 27, 2017

ताज़ा खबर

 

23 मई से बैंक चलाएगा Paytm, रिजर्व बैंक से मिला लाइसेंस

कई महीनों की देरी के बाद आखिर अब पेटीएम का भुगतान बैंक 23 मई से शुरु हो जायेगा। उसे इसके लिये रिजर्व बैंक से अंतिम मंजूरी मिल गई है।

पेटीएम ने सार्वजनिक तौर पर जारी नोटिस में कहा है, पेटीएम पेमेंट बैंक लिमिटेड (पीपीबीएल) को रिजर्व बैंक से अंतिम लाइसेंस प्राप्त हो गया है और यह 23 मई 2017 से काम करना शुरू कर देगा।

कई महीनों की देरी के बाद आखिर अब पेटीएम का भुगतान बैंक 23 मई से शुरु हो जायेगा। उसे इसके लिये रिजर्व बैंक से अंतिम मंजूरी मिल गई है। पेटीएम ने सार्वजनिक तौर पर जारी नोटिस में कहा है, पेटीएम पेमेंट बैंक लिमिटेड (पीपीबीएल) को रिजर्व बैंक से अंतिम लाइसेंस प्राप्त हो गया है और यह 23 मई 2017 से काम करना शुरू कर देगा। पेटीएम अपना वॉलेट का पूरा कारोबार पीपीबीएल में स्थानांतरित कर देगी। इसमें 21.80 करोड़ मोबाइल बटुआ इस्तेमाल करने वाले लोग जुड़े हैं। भुगतान बैंक का यह लाइसेंस भारतीय निवासी विजय शेखर शर्मा को मिला है। विजय शेखर शर्मा पीटीएम की मालिक कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस के संस्थापक हैं।

इसमें कहा गया है कि 23 मई के बाद पेटीएम वॉलेट का कारोबार पीपीबीएल में चला जायेगा। यदि कोई ग्राहक ऐसा नहीं चाहता है तो उन्हें पेटीएम को सूचित करना होगा। सूचना मिलने पर पेटीएम उसके वॉलेट में बची राशि को संबंधित ग्राहक के बैंक खाते में हस्तांतरित कर देगी। इस तरह की सूचना 23 मई से पहले देनी होगी।  पिछले छह माह के दौरान वॉलेट में यदि कोई गतिविधि नहीं हुई, ऐसी स्थिति में पीपीबल में हस्तांतरण केवल उपभोक्ता की विशेष अनुमति के बाद ही होगा।

पेटीएम का भुगतान बैंक व्यक्तियों और छोटे व्यावसायियों से प्रति खाता एक लाख रुपए तक की जमा स्वीकार कर सकता है। इससे पहले पेटीएम का भुगतान बैंक पिछले साल दिवाली के आसपास शुरू होने की चर्चा थी।

इसके तहत अगर ग्राहक 15 जनवरी से पहले इस बारे में कोई जानकारी नहीं देते हैं तो उनके वॉलेट का पैसा पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड के एक स्पेशल अकाउंट में चला जाएगा। ग्राहक इस वॉलेट मनी को तब तक नहीं इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे जब तक वह अपनी बैंक डिटेल्स जमा नहीं कराते।

इसके अलावा अगर ग्राहक का वॉलेट पिछले 6 महीने से निष्क्रिय है और उसमें जीरो बैलेंस है तो यह पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड में तब तक ट्रांसफर नहीं होगा जब तक ग्राहक इसके लिए विशिष्ट सहमति नहीं देते। ग्राहक एेप में या वेबसाइट के जरिए लॉग इन कर इसकी जानकारी दे सकते हैं या फिर care@paytm.com पर ईमेल से भी सहमति दे सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on May 17, 2017 12:39 pm

  1. No Comments.

सबरंग