ताज़ा खबर
 

OLX और Quikr पर अब मिलेंगे बकरे, Online कर सकते हैं बुक

बकरीद पर बकरों की कुर्बानी देने के लिये अब आपको मंडियों की चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। घर बैठे सिर्फ कुछ क्लिक्स के जरिये अब बकरों की ऑनलाइन खरीद भी कर सकते हैं।
Author नई दिल्ली | September 16, 2015 15:14 pm
OLX और Quiker पर अब मिलेंगे बकरे, Online कर सकते बुक

बकरीद पर बकरों की कुर्बानी देने के लिये अब आपको मंडियों की चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। घर बैठे सिर्फ कुछ क्लिक्स के जरिये अब बकरों की ऑनलाइन खरीद भी कर सकते हैं। अब तक आपने ओएलएक्स, क्विकर आदि जैसी ई-कॉमर्स साइटों पर फोन, गाड़ी, फर्नीचर जैसे सामान खरीदे होंगे। लेकिन अब आप बकरे भी ऑनलाइन खरीद सकते हैं। इन साइट्स पर आपको हर नस्ल और हर कीमत के बकरे मिल रहे हैं। इनमें मेवाती, देसी, बरबरा, तोतापरी आदि बकरों की नस्लें शामिल हैं।

इन साइटों पर छह हजार से पांच लाख रूपये तक का बकरा है और आप अपनी पसंद के बकरे खरीदने के लिए उसके मालिक से उसके फोन नंबर के जरिये संपर्क कर सकते हैं और कीमतों को लेकर मोलभाव कर सकते हैं। गौरतलब है कि ईद-उल-अज़हा (बकरीद) पर मुस्लिम समुदाय के लोग अल्लाह की राह में बकरों और अन्य पशुओं की कुर्बानी देते हैं। इस बार यह त्यौहार 25 सितंबर को मनाया जाना है।

ओएलएक्स पर अपना बेकरा बेचने के लिए विज्ञापन पोस्ट करने वाले असद ने बताया कि वह अक्सर इन साइटों पर मोबाइल या बाइक आदि खरीदने के लिए विज्ञापनों को देखते थे। उन्हें अपने बकरे का विज्ञापन भी इन साइटों पर पोस्ट करने का विचार आया।

दिल्ली विश्वविद्यालय में बीए के द्वितीय वर्ष के छात्र ने कहा कि वह शौक के तौर पर बकरे पालते हैं और उन्होंने अपने बकरे का विज्ञापन पोस्ट कर दिया। उन्होंने अपने मेवाती बकरे की कीमत 15 हजार रुपये रखी। उनके विज्ञापन को खासी प्रतिक्रिया मिली और उन्हें कई फोन आए। लेकिन पैसों को लेकर बात नहीं बन सकी।

वहीं एक अन्य व्यक्ति अब्दुल ने कहा कि ओएलएक्स और क्विकर पर कई बार विज्ञापन देखे थे। इसलिए अपने बकरे का भी विज्ञापन लगा दिया। उन्होंने कहा कि हम शौक के तौर पर बकरे पालते हैं और बेचते नहीं हैं। लेकिन कुछ आर्थिक परेशानी की वजह से इसे बेच रहे हैं और घर बैठे ही इसके कई खरीदारों से बात हुई है। ओएलएक्स और क्विकर जैसी साइट्स पर कोई भी व्यक्ति अपने सामान का विज्ञापन मुफ्त में पोस्ट कर सकता है और सीधे खरीदार से बात कर सकता है।

दिल्ली की सबसे बड़ी बकरा मंडी, मीना बाजार के बकरा व्यापारियों को तो पहले यकीन नहीं हुआ कि ऑनलाइन भी बकरे मिल सकते हैं लेकिन जब उन्हें भरोसा हुआ तो उन्होंने कहा कि कम्प्यूटर और मोबाइल पर फोटो देखकर बकरे नहीं खरीदे जा सकते हैं।

रामपुर से आए बकरा व्यापारी मुज़म्मिल ने कहा कि बकरे को फोटो देखकर नहीं खरीदा जा सकता है। खरीदार बकरे को देखता है उसके दांत देखता है कि कितने दांत का है। उसका वजन, उसकी खूबसूरती देखता है। फिर कहीं बकरे को खरीदता है और यह फोटो देखकर नहीं हो सकता है।

हालांकि उन्होंने माना कि इस तरह ऑनलाइन बकरे मिलने से उनके कारोबार पर असर तो पड़ेगा। बकरा खरीदने के लिए पिछले कई दिनों से मंडी के चक्कर लगा रहे रहीम ने कहा कि उन्हें नहीं पता था कि बकरे ओएलएक्स और क्विकर पर मिल भी मिल रहे हैं।

हम यहां भी बकरों को देखेंगे और ऑनलाइन भी। जहां सस्ता और अच्छा बकरा मिल मिलेगा, वहीं से खरीदेंगे। ईद उल अज़हा, ईद उल फितर (मीठी ईद) के दो महीने दस दिन बाद आती है और इसका चांद भी दस दिन पहले नजर आता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.