ताज़ा खबर
 

स्टार्टअप का हिस्सा बनें प्रवासी भारतीय आइटी पेशेवर: गडकरी

सात दिन की अमेरिका यात्रा पर आए गडकरी ने कहा कि सड़क निर्माण रोजाना औसतन दो किलोमीटर था जो अब 20 किमी रोजाना हो गया है।
Author सेन फ्रांसिस्को | July 18, 2016 03:20 am
केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी। (पीटीआई फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भारत की क्रांतिकारी नीतिगत पहल से दुनिया भर के उद्यमियों पर सकारात्मक प्रभाव का दावा करते हुए सिलिकान वैली में काम कर रहे भारतीय आइटी पेशेवरों से भारत के स्टार्टअप आंदोलन में भाग लेने का न्योता दिया है। ग्लोबल इंडियन टेक्नोलाजी प्रोफेशनल्स एसोसिएशन (जीआइटीपीआरओ) को संबोधित करते हुए गडकरी ने भारतीय पेशेवरों को अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्रों खासकर सड़क परिवहन, राजमार्ग और पोत परिवहन जैसे ढांचागत क्षेत्रों के साथ सड़क सुरक्षा कार्यक्रमों में अपने नवप्रवर्तन और प्रौद्योगिकी भारत लाने का न्योता दिया। सड़क, परिवहन, राजमार्ग और पोत परिवहन मंत्री ने कहा कि कृषि एक अन्य क्षेत्र है जहां भारत और अमेरिका सहयोग कर सकते हैं। उन्होंने अमेरिकी उद्यमियों को कारोबार सुगमता के लिए हरसंभव मदद का भरोसा दिया।

अपने मंत्रालय की प्रमुख उपलब्धियों को रेखांकित करते हुए गडकरी ने कहा कि उन्होंने उत्तराखंड में हिमालय के रास्ते मानसरोवर तक सड़क निर्माण के लिए ऑस्ट्रेलिया से उपकरण मंगाने का ऑर्डर दिया है। सात दिन की अमेरिका यात्रा पर आए गडकरी ने कहा कि सड़क निर्माण रोजाना औसतन दो किलोमीटर था जो अब 20 किमी रोजाना हो गया है और अगले अप्रैल तक 41 किलोमीटर रोजाना हो जाएगा। टीआइई (द इंडस इंटरप्रेन्योर) के सदस्यों के साथ बैठक में गडकरी ने अपने मंत्रालय की नई अनूठी नीतियों के बारे में जानकारी दी। इसका मकसद नए भारतीय परिदृश्य में रचनात्मक युवाओं को उनके विचारों को हकीकत में बदलना है। उनका कहना है कि इससे रोजगार सृजन में मदद मिलेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.