December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

निष्क्रिय EPF खातों पर भी रिटायरमेंट तक मिलता रहेगा ब्याज

श्रम मंत्रालय ने निष्क्रिय ईपीएफ खातों पर भी ब्याज देते रहने का अहम फैसला लिया है जिसके बाद 36 महीने या उससे ज्यादा समय तक निष्क्रिय खातों पर भी ब्याज मिलता रहेगा।

2000 रुपए के नोट दिखाता एक युवक। (Photo Source: AP)

श्रम मंत्रालय ने निष्क्रिय इंप्लॉइज प्रॉविडेंट फंड यानी (ईपीएफ) खातों के बारे में एक अहम फैसला लेते हुए यह जानकारी दी है कि अगर कोई ईपीएफ खता 36 महीने तक  निष्क्रिय रहता है तब भी उस पर ब्याज मिलता रहेगा। इससे पहले निष्क्रिय पड़े ईपीएफ खातों पर ब्याज नहीं मिलता था।

नए फैसले के मुताबिक कोई ईपीएफ खाता किसी इंप्लॉई की नौकरी खत्म होने पर भी ऐक्टिव माना जाएगा और धारक को ब्याज मिलता रहेगा। यह सुविधा खाता धारक को अपने खाते में जमा राशि को निकालने तक ही मिलेगी। इसके अलावा नई नौकरी लेने पर ईपीएफ खाता नई जगह पर ट्रांसफर हो सकेगा।

ईपीएफ खातों पर ब्याज दर 2015-2016 के नोटिफिकेशन के बाद सालाना 8.8% पर तय की गई थी। 1 अप्रेल 2011 से ही 36 महीने और उससे ज्यादा समय तक के लिए निष्क्रिय हो चुके खातों पर कोई ब्याज नहीं मिलता था लेकिन अब इसमें बदलाव किया गया है। कोई खाता लेन देन न होने पर निष्क्रिय श्रेणी में आ जाएगा लेकिन उसपर ब्याज मिलता रहेगा।

इसके अलावा कोई ईपीएफ खाता, खाता धारक के 55 साल ही उम्र में रिटायर होने या फिर उसके दूसरे देश में चले जाने के बाद अपनी जमा राशि नहीं निकालने की स्थिति में ही निष्क्रिय माना जाएगा। इसके अलावा खाता धारक की मृत्यु होने पर भी खाता पूरी तरह से निष्क्रिय माना जाएगा। ईपीएफ स्कीम के तहत कर्मचारियों और संस्थान, दोनों मिलकर कर्मचारी की बेसिक सैलरी पर हर महीने 12% के हिसाब से राशि ईपीएफ खाते में जमा कराते हैं।

वीडियो:2000 का नया नोट असली है या नकली? कलर टेस्ट करके ऐसे पहचानें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 16, 2016 12:44 pm

सबरंग