ताज़ा खबर
 

मोदी से हुई इंफोसिस CEO की मुलाकात, इनोवेशन के लिए देंगे 1500 करोड़ रुपए

इंफोसिस के सीईओ विशाल सिक्का ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। मुलाकात में सिक्का ने मोदी को बताया की उनकी कंपनी देश में सॉफ्टवेयर और सर्विसेज के क्षेत्र में इनोवेशन पर 1500 करोड़ रुपये से अधिक (250 मिलियन डॉलर) का फंड खर्च करेगी। भारत की दूसरी सबसे बड़ी आईटी सर्विसेज फर्म के […]
Author January 15, 2015 17:14 pm
मोदी से मिले इंफोसिस सीईओ, इनोवेशन के लिए देंगे 1500 करोड़ रुपये

इंफोसिस के सीईओ विशाल सिक्का ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। मुलाकात में सिक्का ने मोदी को बताया की उनकी कंपनी देश में सॉफ्टवेयर और सर्विसेज के क्षेत्र में इनोवेशन पर 1500 करोड़ रुपये से अधिक (250 मिलियन डॉलर) का फंड खर्च करेगी। भारत की दूसरी सबसे बड़ी आईटी सर्विसेज फर्म के सीईओ ने पीएम से उनके स्मार्ट और डिजिटली-एम्पावरर्ड भारत विज़न में इंफोसिस के योगदान के तरीकों पर भी चर्चा की।

इंफोसिस 2016 में होने वाले उज्जैन महाकुंभ के प्रबंधन के लिए सॉफ्टवेयर डिवेलप करेगी। सिक्का ने कहा कि मोदी ने इस बात की रजामंदी दी है कि वह कंपनी के मैसूर कैंपस को भारत के पहले मॉडल स्मार्ट शहर के रूप में देश के सामने पेश करेंगे। यह कार्यक्रम अप्रैल में होगा।

सिक्का ने बताया, ‘आज मैं प्रधानमंत्री से मिला। हमने स्मार्ट सिटीज, स्मार्ट इंफ्रास्ट्रक्चर जैसे मुद्दों पर बात की जो उनके दिल के करीब हैं।’ उन्होंने कहा, ‘एक बड़ा क्षेत्र इनोवेशन का है। पीएम के पास इनोवेशन का एक विजन है। हमारे पास अभी 500 मिलियन डॉलर्स का इनोवेशन फंड है। हमने फैसला किया है कि इसका आधा हिस्सा भारत में इनोवेशन पर खर्च किया जाएगा। इसे इनोवेट इन इंडिया नाम दिया जाएगा।’

स्मार्ट सिटीज के मुद्दे पर सिक्का ने कहा, इंफोसिस के कैंपस दुनिया की सबसे अद्भुत जगहों में से हैं। वे हरे-भरे और ऊर्जा के बेहतरीन इस्तेमाल करने की क्षमता वाली वाली स्मार्ट यूनिट्स के रूप में काम करते हैं।

सिक्का ने कहा, ‘हमारा मैसूर कैंपस एक छोटी स्मार्ट सिटी है। यहां हर दिन 30000 लोग रहते और काम करते हैं। हम इस कैंपस को स्मार्ट सिटी के पहले मॉडल के रूप में बनाएंगे और प्रधानमंत्री ने इसके अनावरण के लिए हमारे निमंत्रण को स्वीकार कर लिया है।’ 350 एकड़ में फैला इंफोसिस के मैसूर कैंपस में 2 लाख से अधिक पेड़ हैं और ऊर्जा के बेहतरीन इस्तेमाल करने की क्षमता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.