December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

नोटबंदी: सरकार ने दिखाई तेजी, 21 दिन की बजाय 6 दिन में छपकर बैंक पहुंच रहे नए नोट

2000 रुपए के नोट 1,000 रुपए वाली ट्रे में नहीं डाले जा सके क्‍योंकि रिकैलिबरेशन में हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर, दोनों तरह के परिवर्तन किए जा रहे हैं।

मोदी सरकार ने 8 नवंबर को नोटबंदी का फैसला लिया था।

500 व 1000 रुपए के पुराने नोटों को बंद करने के बाद बढ़ी परेशानी से निपटने की सरकार भरसक कोशिश कर रही है। नोट छपने से लेकर उसके मुख्‍य वितरण केंद्रों (बैंकों) तक पहुूंचने का ट्रांसपोर्टेशन टाइम 21 दिन की बजाय 6 दिन हो गया है। सरकार नोट पहुंचाने के लिए यातायात के सभी साधनों- यहां तक‍ कि हेलीकॉप्‍टर्स और भारतीय वायु सेना की भी मदद ली जा रही है। सरकार को आशा है कि अगले सप्‍ताह तक स्थिति बेहतर होगी। शहरी क्षेत्रों में कैश की बेहतर उपलब्‍धता के साथ अब सरकार का ध्‍यान ग्रामीण क्षेत्रों पर है। टीओआई से बातचीत में वरिष्‍ठ सरकारी सूत्र ने कहा है कि 15 जनवरी तक हालात पटरी पर लौट आएंगे। 500 व 1000 के नोट बंद करने के फैसले से मिलने वाले धन के संदर्भ में, सूत्रों ने कहा कि लाभ को बैंकों के पुर्नपूंजीकरण, इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर बनाने और सेना के लिए अत्‍याधुनिक हथियार खरीदने में किया जाएगा। सूत्रों ने कहा, ”आरबीआई उच्‍च लाभांश ट्रांसफर कर सकता है या फिर एक विशेष लाभांश हो सकता है।”

सरकार को ऐसा लगता है कि पुराने नोटों का एक बड़ा हिस्‍सा वापस नहीं आएगा। इससे आरबीआई की देनदारी कम होगी और इसकी उच्‍च लाभांश देने की क्षमता बढ़ेगी। सूत्र ने टीओआई से कहा, ”यहां तक कि जब 1978 में विमुद्रीकरण हुआ था, तब भी 20 प्रतिशत नोट वापस नहीं आए थे।”

सरकार में अभी तक इस बात पर अनिश्चितता है कि इस पहल से आने वाले धन का कुछ हिस्‍सा जन-धन अकाउंट्स में भी डाला जाएगा। यह कयास ही हैं क्‍योंकि पीएम नरेंद्र मोदी को मुफ्त की चीजों से चिढ़ है। वह मानकर चलते हैं कि इससे अ‍र्थव्‍यवस्‍था को कुछ नहीं मिलता और लोगों के निर्भर होने का खतरा होता है। सूत्रों ने बताया कि 2000 रुपए के नोट 1,000 रुपए वाली ट्रे में नहीं डाले जा सके क्‍योंकि रिकैलिबरेशन में हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर, दोनों तरह के परिवर्तन किए जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवंबर की मध्यरात्रि से देश में 500 और 1,000 रुपए के पुराने नोटों को चलन से बाहर कर दिया था। इसके बाद बड़ी मात्रा में लोग बैंकों में अपनी नकदी जमा करा रहे हैं जिन पर आयकर विभाग लगातार नजर रखे हुए है।

500 और 2000 के नए नोट में चलता है पीएम मोदी का भाषण, देखें वीडियो: 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 21, 2016 8:10 am

सबरंग