ताज़ा खबर
 

पहली तिमाही के वित्तीय नतीजे, मॉनसून की प्रगति देंगे बाजार को दिशा

पिछले सप्ताहांत के मुकाबले बंबई सूचकांक 709.60 अंकों की तेजी के साथ 27,836.50 अंक पर जबकि निफ्टी सूचकांक 218.20 अंक की तेजी के साथ 8,541.40 अंक पर बंद हुआ।
Author नई दिल्ली | July 18, 2016 04:54 am
शेयर बाजार (फाइल फोटो)

विप्रो और एचडीएफसी बैंक जैसी ब्लूचिप कंपनियों के तिमाही वित्तीय नतीजे, मॉनसून की प्रगति और संसद के मॉनसून सत्र की कार्यवाही चालू सप्ताह में शेयर बाजार की दिशा को निर्धारित करेंगे। यह बात विशेषज्ञों ने कही। ट्रेड स्मार्ट ऑनलाइन के संस्थापक निदेशक विजय सिंघानिया ने कहा, ‘चालू सप्ताह में सभी की निगाह संसद में वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) विधेयक और मॉनसून की प्रगति पर होगी। सोमवार (18 जुलाई) से संसद के मॉनसून सत्र का आरंभ होगा और निवेशकों को आने वाले सप्ताहों में जीएसटी विधेयक के पारित होने को लेकर चिंता रहेगी।’

उन्होंने कहा कि आरंभ में बाजार सोमवार (18 जुलाई) को प्रमुख तेल एवं गैस कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के कार्यपरिणामों के संदर्भ में अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करेंगे। शुक्रवार (15 जुलाई) को रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) ने जून तिमाही का जो कार्यपरिणाम घोषित किया है, वह उम्मीद से कहीं ज्यादा 18 प्रतिशत की वृद्धि को बताता है। आरआईएल ने एक बयान में कहा कि अप्रैल जून की तिमाही में उसका एकीकृत शुद्ध मुनाफा प्रति शेयर 24.1 रुपए अथवा 7,113 करोड़ रुपए रहा जो पिछले वर्ष की समान अवधि के 6,024 करोड़ रुपए के एकीकृत शुद्ध मुनाफे से 18.1 प्रतिशत अधिक है।

इसके अलावा प्रमुख कंपनियों के वित्तवर्ष 2017 के पहली तिमाही के कार्यपरिणाम बाजार की धारणा को निर्धारित करेंगी। चालू सप्ताह में हिन्दुस्तान यूनीलीवर, अल्ट्रा टेक सीमेंट, विप्रो, एक्सिस बैंक, केयर्न इंडिया, एचडीएफसी बैंक जैसी बड़ी कंपनियों के जून में समाप्त तिमाही के कार्यपरिणाम घोषित की जाएंगी। सिंघानिया ने कहा, ‘अंतत: सारी बात इस पर टिकेंगी कि आय में क्या वृद्धि होती है। निश्चित तौर पर निवेशकों की निगाह इस महत्वपूर्ण पहलू पर रहेगी कि प्रबंधन के दिशानिर्देश है और चालू वर्ष के परिदृश्य कैसा बताया जाता है।’

पिछले सप्ताहांत के मुकाबले बंबई सूचकांक 709.60 अंकों की तेजी के साथ 27,836.50 अंक पर जबकि निफ्टी सूचकांक 218.20 अंक की तेजी के साथ 8,541.40 अंक पर बंद हुआ। कैपिटल वाया ग्लोबल रिसर्च लिमिटेड के संस्थापक और सीईओ रोहित गाडिया ने कहा, ‘विदेशी संस्थागत निवेशकों के कारोबार की गतिविधियां, डॉलर के मुकाबले रुपए की घट बढ़ और अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत बाजार के लिए महत्वपूर्ण साबित होंगे।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग