December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

प्रैंक ऐप है Modi KeyNote, इससे ना करें नोट के असली या नकली होने की पहचान

Modi KeyNote Apps: कई ऐप में साफ तौर पर यह बता दिया गया है कि यह एंटरटेनमेंट के लिए तैयार की गई है, ना कि असली या नकली नोट की पहचान के लिए।

गूगल प्ले स्टोर से लिए गए स्क्रीनशॉट।

केंद्र सरकार ने 500 और 1000 रुपए के नोट के बांद कर दिया, जिसके बाद लोग बैंकों और एटीएम के बाहर लाइन लगाकार कैश निकालने में जुटे हैं। पुराने 500 और 1000 रुपए के नोट के बदले अब नए 500 और 2000 रुपए के नोट बदले जा रहे हैं। नोटबंदी के फैसले के बाद से ही नए नोट को लेकर तरह-तरह की अफवाहें आने लगी थीं। शुरुआत में कहा गया कि 2000 के नए नोट में नैनोचिप लगी होगी। इसके बाद अब दावा किया जा रहा है कि नए नोटों के असली या नकली होने की पहचान करने के लिए ऐप जारी की गई हैं। ऐसी ही एक ऐप थी Modi Keynote, जिसे Barra Skull Studios ने तैयार किया था। अब यह ऐप गूगल प्ले स्टोर से अब हटा ली गई है। हालांकि इस ऐप आने के बाद अब प्ले स्टोर पर इसी नाम के जैसी ढेर सारी फेक ऐप आ गई हैं।

आप जैसी ही प्ले स्टोर पर Modi Keynote सर्च करते हैं, तो बड़ी संख्या में एक ही नाम की कई ऐप निकलकर आती हैं। सोशल मीडिया पर यह बात फैल गई थी कि 500 और 2000 रुपए के नए नोट असली हैं या नकली, इस बात का पता Modi Keynote ऐप के जरिए लगाया जा सकता है। इस ऐप को इस्तेमाल करते समय कैमरा ओपन होता है, जिसके आगे 500 और 2000 रुपए का नोट रखने पर प्रधानमंत्री मोदी की वीडियो प्ले हो जाती है। ऐसा कहा गया कि अगर नोट पर विडियो चल जाती हो तो समझिए नोट असली है। जबकि हकीकत में न सिर्फ यह ऐप, बल्कि इस तरह के अन्य सभी ऐप प्रैंक ऐप हैं और ये करंसी की वैधता नहीं जांच सकते।

गूगल पर इन्ही में से एक ऐप है Modi Keynote, जिसे Artophelia ने तैयार किया है। इस ऐप पर जाएं तो वहां साफतौर पर लिखा है, “Use Modi Keynote app and watch Modi speech. Note: This app is just for fun. Not intended to check whether fake or original note” यानी इस ऐप का इस्तेमाल मोदी की स्पीच देखने के लिए करें। यह सिर्फ एक फन ऐप है, जिसका इस्तेमाल असली या नकली नोट की पहचान के लिए ना करें।

बाकी ताजा खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

2000 का नया नोट असली है या नकली? कलर टेस्ट करके ऐसे पहचानें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 22, 2016 11:13 am

सबरंग