ताज़ा खबर
 

प्रमुख शेयरों में निचले स्तर पर खरीदारी से सेंसेक्स 81 अंक ऊंचा

बंबई शेयर बाजार का बेंचमार्क बीएसई सेंसेक्स आज कारोबार की शुरुआत में 81 अंक से अधिक बढ़ गया।
Author मुंबई | December 27, 2016 11:20 am

बंबई शेयर बाजार का बेंचमार्क बीएसई सेंसेक्स आज कारोबार की शुरुआत में 81 अंक से अधिक बढ़ गया। टीसीएस, सिप्ला और रिलायंस इंडस्ट्रीज सहित कई प्रमुख कंपनियों के शेयरों में निचले स्तर पर लिवाली से बाजार में सुधार का रुख रहा।  बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स आज 81.01 अंक यानी 0.31 प्रतिशत बढ़कर 25,888.11 अंक ऊंचा रहा। विभिन्न क्षेंत्रों के सूचकांक में भी एक प्रतिशत तक मजबूती दर्ज की गई। टिकाउ उपभोक्ता सामान, स्वास्थ्य देखभाल, आईटी, एफएमसीजी, आटो और पूंजीगत सामानों के समूह सूचकांक में बढ़त रही।
नेशनल स्टॉक एक्सचेंंज का निफ्टी सूचकांक भी आज शुरुआती कारोबार में 20.70 अंक यानी 0.26 प्रतिशत बढ़कर 7,928.95 अंक रहा।

शेयर ब्रोकरों के अनुसार कुछ प्रमुख कंपनियों के शेयर बिकवाली के चलते काफी आकर्षक निचले स्तर पर उपलब्ध हैं, निवेशकों ने आज इनमें लिवाली की। इसके अलावा दिसंबर का वायदा एवं विकल्प सत्र समाप्त होने को है, ऐसे में सटोरियों ने उनके पास उपलब्ध शेयरों के मुकाबले जो अधिक बिकवाली की थी उसे कवर करने के लिये उन्होंने खरीदारी की। गुरुवार को दिसंबर वायदा एवं विकल्प का निपटान है।
कारोबार की शुरुआत में सिप्ला, सन फार्मा और लुपिन के शेयर 1.23 प्रतिशत तक चढ़ गये। अदाणी पोर्ट्स, एचडीएफसी बैंक और टाटा मोटर्स में भी शुरुआती दौर में 1.21 प्रतिशत तक बढ़त दर्ज की गई। कल बीएसई-30 सूचकांक 233.60 अंक गिरकर बंद हुआ था।

जबकि बीते दिन सोमवार (26 दिसंबर) को शेयर बाजारों दिखाई दिया जहां बिकवाली दबाव के चलते बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 234 अंक लुढ़क कर 25,807 और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी सात महीने के निचले स्तर 7,908 अंक पर आ गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को मुंबई में भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के एक कार्यक्रम में कहा था कि बाजार के भागीदारों को देश निर्माण में ‘उचित, दक्ष और पारदर्शी तरीके’ से योगदान करना चाहिए। मोदी ने ‘और मजबूत व सोची समझी नीतियों व सुधारात्मक कदमों’ का वादा किया। बाजार के एक वर्ग ने इसे शेयरों में निवेश से कमाए जाने वाले मुनाफे पर दीर्घकालिक पूंजी लाभ कर लगाए जाने का संकेत माना।

हालांकि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रविवार को स्पष्ट किया कि सरकार की ऐसी कोई योजना नहीं है, वहीं निवेशकों में घबराहट फैल चुकी थी। चौतरफा बिकवाली दबाव के कारण सेंसेक्स में बीते नौ दिनों में आठवीं बार गिरावट आई। बीएसई का तीस शेयर आधारित सेंसेक्स सुबह कमजोर खुला। यह अंतत: 233.60 अंक की गिरावट दिखाता हुआ एक महीने के निचले स्तर 25,807.10 अंक पर बंद हुआ। शुक्रवार को यह 61.10 अंक चढ़ा था। वहीं निफ्टी 7900 अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे चला गया और अंतत: 77.50 अंक की गिरावट दिखाता हुआ 7908.25 अंक पर बंद हुआ। इससे पहले 24 मई को यह 7748.85 अंक पर बंद हुआ था। बिकवाली दबाव से सिप्ला का शेयर 4.94 प्रतिशत, लूपिन का 2.78 प्रतिशत, टाटा स्टील का 2.64 प्रतिशत व ओएनजीसी व एसबीआई का शेयर 2.07 प्रतिशत टूटा।  वहीं एचयूएल, भारती एयरटेल व टीसीएस का शेयर मजबूत हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग