ताज़ा खबर
 

डॉलर के मुकाबले रुपया 13 पैसे गिरने के बाद संभला

डॉलर में मजबूती का रुख तब बना जब बुधवार को ओपेक देशों ने 2008 के बाद पहली बार कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती पर सहमति जताई।
Author मुंबई | December 1, 2016 13:04 pm
500 के पुराने नोटों की गिनती करता एक व्यक्ति। (चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।)

अंतर बैंकिंग विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में गुरुवार (1 दिसंबर) को शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया 13 पैसे नीचे खुलने के बाद जल्द ही संभल गया और दो पैसे नीचे रहकर 68.40 रुपए प्रति डॉलर के भाव पर बोला गया। कारोबार की शुरुआत में यह 13 पैसे नीचे खुलकर 68.51 रुपए प्रति डॉलर पर बोला गया। शुरुआती एक घंटे के कारोबार में यह 68.52 से लेकर 68.38 डॉलर प्रति रुपए के दायरे में घटबढ़ के बाद 68.40 रुपए प्रति डॉलर पर रहा। बुधवार के कारोबार में डॉलर-रुपए की विनिमय दर 68.38 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुई थी।

विदेशी बाजारों में अमेरिकी डॉलर आमतौर पर मजबूती में रहा। जापानी येन के मुकाबले यह साढ़े नौ माह की ऊंचाई पर पहुंच गया। तेल निर्यातक देशों के संगठन ओपेक के बुधवार (30 नवंबर) को कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती पर सहमत होने के बाद दाम में मजबूती का रुख बन गया। इससे मुद्रास्फीति बढ़ने और अमेरिका में बॉंड प्राप्ति बढ़ने की उम्मीद से डॉलर में मजबूती आई। डॉलर में मजबूती का रुख तब बना जब बुधवार को ओपेक देशों ने 2008 के बाद पहली बार कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती पर सहमति जताई। इससे कच्चे तेल के दाम 9 प्रतिशत चढ़ गये।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग