ताज़ा खबर
 

भारतीय कंपनी इंफोसिस ने बनाई ड्राइवर लैस कार्ट, सीईओ बोले- कौन कहता है कि ट्रांसफर्मोटिव टेक्नोलॉजी नहीं बना सकते

मीडिया से बातचीत में विशाल सिक्का ने कहा कि हमें हजारों ट्रेंड इंजीनियर्स की मदद से ड्राइवर लैस वाहन बनाने होंगे जैसे की हमने मौजूदा समय में ड्राइवर लैस एडवांस कार बनाई है।
सिक्का ग्रुप द्वारा बनाया ये वाहन सेंसर और अन्य तकनीकों से पूरी तरह लैस है, जो वातावरण में बिना ड्राइवर के संवेदन और नकारात्मक तत्वों की पहचान बड़े आराम से कर सकता है। (फोटो सोर्स ट्वीटर)

इंफोसिस सीईओ विशाल सिक्का आज (14 जुलाई, 2017) मीडिया ब्रीफिंग के लिए ड्राइवर लैस कार्ट में आए, जिसे कंपनी के मैसूर ऑफिस में इंजिनियर्स ने बनाया है। मीडिया से बातचीत के दौरान विशाल सिक्का ने कहा, ‘ड्राइवर लैस कार्ट के निर्माण का मुख्य उद्देश्य कंपनी के ट्रेनी कर्मचारियों को उभरती हुई तकनीक से अवगत कराना है।’ वहीं विशाल सिक्का ने ड्राइवर लैस कार्ट की तस्वीर शेयर करते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘ड्राइवर लैस वाहन मेरे लिए। जिसे सीओओ प्रवीण ने मैसूर में बनाया। कौन कहता है कि ट्रांसफर्मोटिव टेक्नोलॉजी नहीं बना सकते।’ सिक्का ग्रुप द्वारा बनाया ये वाहन सेंसर और अन्य तकनीकों से पूरी तरह लैस है, जो वातावरण में बिना ड्राइवर के संवेदन और नकारात्मक तत्वों की पहचान बड़े आराम से कर सकता है। इसमें एडवांस कंट्रोल सिस्टम लगाए गए हैं, जो खुद नेविगेशन सेंसर की पहचान कर चलता है। ये वाहन रोड पर चलने में भी सक्षम है। दूसरी तरफ मीडिया ब्रीफिंग के दौरान इंफोसिस सीईओ सिक्का ने कहा, ‘मैं स्वदेशी निर्मित गोल्फ कार्ट में बैठकर यहां आया हूं। ये बस एक टेस्ट भर है। हमें हजारों ट्रेंड इंजीनियर्स की मदद से ड्राइवर लैस वाहन बनाने होंगे जैसे की हमने मौजूदा समय में ड्राइवर लैस एडवांस कार बनाई है।

उन्होंने आगे कहा कि कंपनी ऐसे प्रदर्शन की वजह से अब अन्य क्षेत्रों और सेवाओं में अपना ध्यान केंद्रित कर रही है। दूसरी तरफ कंपनी की सीओओ प्रवीण राव ने कहा कि ड्राइवर लैस वाहन के साथ कंपनी एक नए युग में कदम रख रही है। अब हम अपना फोकस इंटेलीजेंस और अन्य तकनीकी क्षेत्रों में काम पर करेंगे। जानकारी के लिए बता दें कि कंपनी के पहली तिमाही के नतीजे आने के बाद सीईओ विशाल सिक्का ने डाइवर लैस कार्ट में बैठकर कंपनी के बैंगलोर स्थित मुख्यालय का चक्कर लगाया। इस कार्ट को कंपनी के मैसूरू ऑफिस में इंजिनियर्स ने बनाया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग