ताज़ा खबर
 

पैसा उड़ाने की नई तकनीक आई सामने, भारतीय खाताधारक का पैसा ATM के जरिए चीन में निकला

यूपी के देवरिया के रहने वाले शाबिर अली का इलाहाबाद बैंक में अकाउंट है। अचानक उन्हें पता चलता है कि उनके खाते से करीब 50 हजार रुपए निकाल लिए गए हैं।
Author नई दिल्ली | October 18, 2016 12:41 pm
पैसे निकालने के बाद कभी भी बाहर आकर पैसे ना गिनें। हमेशा पूरे पैसे अंदर गिनने के बाद उन्हें सुरक्षित रखने के पश्चात ही बाहर आएं। सभी नोटों को भी ध्यान से देख लें, क्योंकि कई बार एटीएम से नकली नोट भी निकल आते हैं।

बैंक एटीएम से धोखाधड़ी करके पैसे निकालने के बहुत से मामले आए दिन सामने आते हैं। लेकिन क्या ऐसा हो सकता है कि किसी शख्स के अकाउंट से एटीएम मशीन के जरिए विदेश में पैसे निकल जाए, वह भी तब जब उसका एटीएम कार्ड उसके पास ही मौजूद हो। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एक युवक के खाते से पैसा एटीएम के जरिए चीन में निकाला गया है। यूपी के देवरिया के रहने वाले शाबिर अली का इलाहाबाद बैंक में अकाउंट है। अचानक उन्हें पता चलता है कि उनके खाते से करीब 50 हजार रुपए निकाल लिए गए हैं। सबसे ज्यादा हैरानी उस वक्त होती है जब पता चलता है कि पैसा भारत में नहीं बल्कि चीन के किसी बैंक के एटीएम से निकाला गया है।

वीडियो: कॉल सेंटरों के कर्मचारियों को अमेरिकी नागरिकों को ठगने के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेजा

यह मामला 9 सिंतबर का बताया जा रहा है। तब से लेकर अब तक शाबिर बैंक के चक्कर लगा रहे हैं। बैंक द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक उसके अकाउंट से करीब 50 हजार रुपए चार बार में निकाले गए हैं। पैसे चीन के चाइना कंस्ट्रक्शन बैंक के एटीएम से निकाले गए हैं। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। संभवता कार्ड क्लोनिंग का मामला बताया जा रहा है, लेकिन हैरान करनी वाली बात यह है कि कैसे भारत के एक अकाउंट के कार्ड की क्लोनिंग करके चीन में पैसा निकल सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एटीएम से जुड़ा एक अंतरराष्ट्रीय रैकेट है जो डिवाइस के जरिये एटीएम कार्ड धारक का सभी डेटा हैक कर एटीएम का क्लोन तैयार कर पैसा निकाल लेता है।

READ ALSO: एटीएम से खरीद सकेंगे सोने के सिक्के, मूवी टिकट और ले सकेंगे लोन

बता दें कि करीब 5 महीने पहले कार्ड क्लोनिंग से पैसे उड़ाने की खबर जापान से आई थी। यहां कार्ड क्लोनिंग करके एक गैंग ने 3 घंटे में 90 करोड़ रुपए पार कर दिए थे। बताया जा रहा है कि भारत में अब तक इस तरह के चार मामले सामने आ चुके हैं। दरअसल एटीएम में अलग से एक डिवाइस लगा दी जाती है। जिससे जब भी कोई एटीएम से पैसे निकालने जाता है तो उसका डाटा डिवाइस में अपने आप स्टोर हो जाता है। बाद में उसी डाटा इस्तेमाल करके एटीएम कार्ड बनाया जाता है और एटीएम से पैसे लेते हैं।

READ ALSO: चीन की इस दुल्हन को चाहिए थे हनीमून के लिए पैसे, तो अपनाया ये अजीब तरीका

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 18, 2016 12:41 pm

  1. No Comments.
सबरंग