December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

‘नोटबंदी से भारत डिजिटल अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ेगा’

टीआईई सिलिकॉन वैली के अध्यक्ष वेंकटेश शुक्ल ने कहा कि भारत बहुत जल्दी नकद रहित अर्थव्यवस्था नहीं बन सकता।

Author वॉशिंगटन | November 27, 2016 21:15 pm
नई दिल्ली में एक बैंक के बाहर एक रशियन पर्यटक 2000 रुपए का नया नोट दिखाती हुई। (AP Photo/Manish Swarup/10 Nov, 2016)

भारत में नोटबंदी से कालाधन पर अंकुश लगेगा और देश डिजिटल अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ेगा। लेकिन नकद रहित प्रणाली की ओर बढ़ने में थोड़ा समय लगेगा। एक प्रमुख भारतीय-अमेरिकी उद्यमी ने यह बात कही। उद्यम पूंजीपति और टीआईई सिलिकॉन वैली के अध्यक्ष वेंकटेश शुक्ल ने कहा, ‘यह कालधन के खिलाफ और डिजिटल अर्थव्यवस्था की तरफ एक बड़ा कदम है। इसके लिये आधार, जनधन योजना तथा प्रत्यक्ष लाभ अंतरण के जरिये आधारशिला पहले ही रखी जा चुकी है।’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन मुझे लगता है कि इससे भारत बहुत जल्दी नकद रहित अर्थव्यवस्था नहीं बन सकता। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि लोगों को इतनी मुश्किलें हो रही हैं। लेकिन इसमें कोई संदेह नहीं कि यह सही दिशा में उठा गया कदम है।’

शुक्ल ने कहा कि जितनी जल्दी अर्थव्यवस्था डिजिटल अर्थव्यवस्था बनती है, बर्बादी कम होगी, उत्पादकता बढ़ेगा तथा कालधन पर अंकुश लगेगा। एक सवाल के जवाब में यह नकदी रहित अर्थव्यवस्था की दिशा में कदम है लेकिन इसमें थोड़ा समय लगेगा। लेकिन इसके लिये बुनियादी ढांचा पहले से है। उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय-अमेरिका उद्यमी सरकार के इस कदम से काफी प्रभावित हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 27, 2016 9:15 pm

सबरंग