ताज़ा खबर
 

कैसे बचाएं और बनाएं पैसा, स्‍कूल-कॉलेज जाने वालों के ल‍िए काम की पांच बातें

कम उम्र में ही पैसों का हिसाब-किताब रखना अच्छी आदत है और यह आगे चलकर काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।
इकॉनोमिक कंडीशन को मजबूत करने के लिए जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्दी शुरुआत करने में आपका ही फायदा है।

आदिल शेट्टी, सीईओ, बैंक बाजार

आप शायद यही सोच रहे होंगे कि स्कूल कॉलेज जाने वालों को पैसों की चिंता करने की क्या जरूरत है, उनको तो खर्च के लिए पैसे घरवालों से मिलते हैं, लेकिन इकॉनोमिक कंडीशन को मजबूत करने के लिए जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्दी शुरुआत करने में आपका ही फायदा है। इस अहसास काफी बाद में होता है लेकिन जब तक काफी देर हो चुकी होती है। कम उम्र में ही पैसों का हिसाब-किताब रखना अच्छी आदत है और यह आगे चलकर काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। आप इसकी शुरुआत अपनी पॉकेट मनी में से कुछ पैसे बचाकर भी कर सकते हैं। आइये आपको ऐसी ही पांच बातों के बारे में बताते हैं जिनसे आपको बचत करने में सहायता मिल सकती है।

अपनी पॉकेट मनी को अलग-अलग काम में लगाएं
अपने पास मौजूद पैसे में से कुछ पैसा किसी खास काम में लगाना चाहिए। अपनी सारी पॉकेट मनी खर्च करने के बजाय, आप उसमें से कुछ पैसे बचाकर अपने लिए एक फंड तैयार कर सकते हैं। बचत करने के लिए, आप पहले बचाने और उसके बाद खर्च करने की आदत डालें। यदि आप शुरू से पैसे बचाने की आदत डाल लेते हैं, चाहे वह कितनी भी छोटी रकम क्यों न हो, तो यही आदत आगे चलकर आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगी।

एक बैंक अकाउंट खोलें
अपना एक बैंक अकाउंट खुलवा लीजिए। ऐसे कई बैंक हैं जहां खास तौर पर स्कूल-कॉलेज जाने वालों के लिए अलग से सेविंग्स अकाउंट की व्यवस्था है। इस अकाउंट की देखरेख आपके माता-पिता के द्वारा की जाएगी, लेकिन फिर भी यह बैंक अकाउंट आपके नाम से ही होगा।
आर्थिक सावधानी की दिशा में यह आपका पहला कदम है।

खर्च में कटौती करें
बाहर खाना खाने जाना या कभी-कभार कोई फिल्म देखना किसे पसंद नहीं है? खर्च करने से बचने के लिए आपको अपनी सारी मौज-मस्ती बंद करने की जरूरत नहीं है, लेकिन, बहुत ज्यादा मौज-मस्ती करने से आपका सारा पैसा खर्च हो सकता है। इसलिए आप तरह-तरह के उपाय करके अपना खर्च कम कर सकते हैं, जैसे अपने दोस्तों के साथ मिलकर खाने का बिल चुकाना, फिल्म देखते समय रिफ्रेशमेंट के पीछे खर्च न करना, पब्लिक ट्रांसपोर्ट में यात्रा करना आदि।

एक पार्ट-टाइम नौकरी ढूंढ लें या छुट्टियों में काम करने की कोशिश करें
यदि आप एक छुट्टी में खर्च करते हैं, तो दूसरी छुट्टी में कोई पार्ट-टाइम नौकरी करने की कोशिश करें। आप अपनी इस कमाई से अपने नियमित खर्च का बोझ खुद उठा सकते हैं और कुछ बचत भी कर सकते हैं। यदि आपको अपनी पढ़ाई के दौरान कुछ खाली समय मिलता है तो आप उसका इस्तेमाल भी पैसे कमाने के लिए कर सकते हैं। लेकिन, यह जरूर ध्यान रखें कि यह काम आपकी पढ़ाई को डिस्टर्ब न करे।

बचाए गए पैसों को कहीं निवेश करें
गुल्लक में पैसे रखने के बजाय आप उसे किसी बैंक के रेकरिंग डिपोजिट में डाल सकते हैं या अपने माता-पिता के नाम से म्यूच्यूअल फंड के सिप (सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) में निवेश कर सकते हैं। इससे आपको आगे चलकर अच्छे रिटर्न मिलेंगे। रेकरिंग डिपोजिट और म्यूचुअल फंड में पैसे निवेश करने से आपको नियमित रूप से और एक अनुशासित तरीके से पैसे जमा करने या निवेश करने की प्रेरणा मिलेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग