ताज़ा खबर
 

HONDA टु-व्हीलर्स देगी केंद्र सरकार व सार्वजनिक कंपनियों के कर्मचारियों को नगदी लाभ, जानिए क्यों?

होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया (एचएमएसआई) देश भर में 11 राज्यों व दो केंद्र शासित प्रदेशों में नंबर वन दुपहिया वाहन ब्रांड बन गई है।
Author नई दिल्ली | October 17, 2016 23:50 pm

होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया (एचएमएसआई) देश भर में 11 राज्यों व दो केंद्र शासित प्रदेशों में नंबर वन दुपहिया वाहन ब्रांड बन गई है। कंपनी ने वाहन विनिर्माताओं के संगठन सियाम के ताजा आंकड़ों के हवाले से सोमवार (17 अक्टूबर) को यह दावा किया कि जिन राज्यों में कंपनी का दबदबा है वे राज्य देश भर में बिकने वाले कुल दोपहिया वाहनों में 33 प्रतिशत हिस्सेदारी रखते हैं। एचएमएसआई के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (बिक्री) यादविंदर सिंह गुलेरिया ने कहा कि वित्त वर्ष 2016-17 की पहली तिमाही में होंडा की वृद्धि 50 प्रतिशत रही जबकि इसी दौरान देश के समूचे दो-पहिया वाहन उद्योग की औसत वृद्धि 22 प्रतिशत रही। उन्होंने कहा-ह्यहोंडा टु-व्हीलर अब 11 राज्यों व दो केंद्रशासित प्रदेशों में ह्यसबसे तरजीही टुव्हीलर ब्रांड बन गया है। उन्होंने कहा,कंपनी ने एक्टिवा स्कूटर 15 साल पहले पेश किया था जिससे भारत में ह्यस्कूटरीकरण में क्रांति आई। आज एक्टिवा भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाला दुपहिया है। सबसे बड़ी बात यह है कि परंपरागत रूप से मोटरसाइकिल के गढ़ रहे बाजारों में भी स्कूटर की अच्छी मांग निकल रही है। जिन 11 राज्यों में कंपनी नंबर वन दुपहिया ब्रांड है उनमें महाराष्ट्र, कर्नाटक, गुजरात, केरल, पंजाब, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, गोवा व मणिपुर शामिल है। उन्होंने कहा कि आटोमेटिक स्कूटर ब्रांड में कंपनी की बाजार भागीदारी 58 प्रतिशत है।

कंपनी ने त्योहारी सीजन को ध्यान में रखते हुए होंडा टुव्हीलर्स इंडिया ने अपने ग्राहकों को 31 अक्तूबर तक विभिन्न विशेष पेशकश की घोषणा की है। इसके तहत वह केंद्र सरकार व सार्वजनिक कंपनियों के कर्मचारियों को 2000 रुपए का नकदी लाभ देगी। वहीं होंडा के 115 बेस्ट डील बिक्री केंद्रों पर 1500 रुपए का एक्सचेंज बोनस भी उपलब्ध होगा। होंडाटुव्हीलर्स के ग्राहकों के लिए सस्ते रिण की व्यवस्था भी कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग