December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

सर्राफा कारोबार पर पड़ी नोटबंदी की तगड़ी मार, पिछले 7 दिन में 1400 रुपए लुढ़का सोना

10 नवंबर को सर्राफा व्यापारियों पर आयकर विभाग के सर्वे के विरोध में आभूषण विक्रेताओं के प्रतिष्ठान 27 नवंबर तक बंद रहे।

सर्राफा बाजार में सोने-चांदी की कीमत। (फाइल फोटो)

नोटबंदी के फैसले का सर्राफा बाजार पर तगड़ा असर देखने को मिल रहा है। पिछले 7 कारोबारी दिनों के आंकड़ें देखें तो साेने की कीमत में 1,400 रुपए प्रति 10 ग्राम की गिरावट देखी गई है। चांदी के दाम भी करीब 22,000 रुपए किलो तक गिर गए हैं। सर्राफा बाजार को बड़ा नुकसान नोटबंदी के बाद से कारोबार बंद रखने की वजह से भी उठाना पड़ा। नोटबंदी से पहले 7 नवंबर को सोना 30,850 रुपए प्रति 10 ग्राम तथा चांदी 43,600 रुपए प्रति किलो थी। अगले दिन चांदी बढ़कर 43,850 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गई, जबकि सोना 31,750 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ। 8 नवंबर की शाम को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी ने 500, 1000 रुपए के नोट बंद करने का ऐलान किया तो सर्राफा बाजार को तगड़ा झटका लगा। अगले दिन (9 नवंबर) को सोना 31,150 रुपए प्रति 10 ग्राम तथा चांदी 45,000 रुपए प्रति किलो रही। इसके बाद 10 नवंबर को चांदी की कीमत में गिरावट देखी गई। चांदी 44,700 रुपए प्रति किलो तथा सोना 29,400 रुपए प्रति 10 ग्राम के भाव पर बंद हुआ।

नोटबंदी के बाद 10 नवंबर को सर्राफा व्यापारियों पर आयकर विभाग के सर्वे के विरोध में आभूषण विक्रेताओं के प्रतिष्ठान 27 नवंबर तक बंद रहे। नोटबंदी के बीच सर्राफा व्यापारियों द्वारा कथित रूप से गैरकानूनी ढंग से मुनाफा कमाने और कर अपवंचना की रिपोर्टों के बाद आयकर विभाग ने 10 नवंबर को उनके खिलाफ सर्वे अभियान चलाया था। इसी के विरोध में सर्राफा कारोबारियों ने दुकानें बंद कर दीं।

gold-silver

28 को जब बाजार फिर से खुला तो सोना 29,400 रुपए प्रति 10 ग्राम ही रहा, चांदी 100 रुपए टूटकर भी 41,600 रुपए प्रति किलो बिकी। 29 नवंबर को चांदी में तेज गिरावट देखी गई और वह 40,735 रुपए प्रति किलो तक लुढ़क गई, सेना 50 रुपए चढ़कर 29,450 रुपए प्रति 10 ग्राम के भाव पर बंद हुआ। 30 नवंबर को सोना 100 रुपए और लुढ़का और 29,350 रुपए प्रति 10 ग्राम के भाव पर बंद हुआ। चांदी भी 300 रुपए गिरकर 41,435 रुपए प्रति किलो पर आ गई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस फैसले को नामी उद्योगपतियों ने सराहा है। सोने या चांदी में निवेश करने वाले फिलहाल धातुओं के दामों में आई गिरावट से निराश हैं। हालांकि आभूषणों की खरीदारी पर भी नोटबंदी की मार पड़ी है। सोना-चांदी सस्‍ता होने के बावजूद जेवरों की बिक्री में कोई इजाफा देखने को नहीं मिला है। बाजार विशेषज्ञों के अनुसार, अभी एक-दो महीने तक यही ट्रेंड जारी रहेगा।

नीली आंखों वाले पाकिस्तानी चायवाले की पहली म्यूज़िक वीडियो हुई लॉन्च

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 1, 2016 8:17 am

सबरंग