ताज़ा खबर
 

सोने में साल की सबसे बड़ी गिरावट, एक दिन में टूटकर इतने कम हो गए दाम

शुक्रवार को सोना 990 रुपये उछलकर दस माह के उच्चतम स्तर 31,350 रुपये पर पहुंच गया था।
Author September 9, 2017 18:07 pm
कारोबारियों ने बताया कि वैश्विक स्तर पर नरमी के रुख के अलावा स्थानीय स्तर पर आभूषण एवं खुदरा मांग कमजोर रहने से सोने की कीमतें प्रभावित हुई हैं। (File Photo)

कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच स्थानीय आभूषण निर्माताओं की मांग कमजोर पड़ने से दिल्ली सर्राफा बाजार में आज सोना 820 रुपये टूटकर 30,530 रुपये प्रति दस ग्राम रह गया। यह सोने में इस साल की एक दिनी सबसे बड़ी गिरावट है। इससे पहले शुक्रवार को सोना 990 रुपये उछलकर दस माह के उच्चतम स्तर 31,350 रुपये पर पहुंच गया था। औद्योगिक इकाइयों और सिक्का निर्माताओं की छिटपुट मांग से हालांकि, चांदी 42 हजार रुपये प्रति किलोग्राम पर टिकी रही। कारोबारियों ने कहा कि कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच हाजिर बाजार में आभूषण निर्माताओं एवं खुदरा कारोबारियों की मांग उतरने से सोने के भाव कम हुए हैं। वैश्विक स्तर पर सोना एक साल के उच्चतम स्तर 1,357.64 डॉलर प्रति औंस को छूने के बाद न्यूयॉर्क में कल 0.19 प्रतिशत गिरकर 1,346 डॉलर प्रति औंस पर आ गया। चांदी भी 0.91 प्रतिशत लुढ़ककर 17.93 डॉलर प्रति औंस रह गई। राष्ट्रीय राजधानी में 99.9 प्रतिशत तथा 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाला सोना प्रत्येक 820-820 रुपये गिरकर क्रमश: 30,530 रुपये तथा 30,380 रुपये प्रति दस ग्राम रह गया। पिछले कारोबारी दिवस सोना 990 रुपये की बड़ी उछाल के साथ दस महीने के उच्चतम स्तर 31,350 रुपये प्रति दस ग्राम पर बंद हुआ था। आठ ग्राम वाली गिन्नी 24,600 रुपये पर स्थिर रही।

चांदी हाजिर 42 हजार रुपये प्रति किलोग्राम पर स्थिर रह। साप्ताहिक आपूर्ति वाली चांदी 200 रुपये गिरकर 41,570 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गयी। चांदी के सिक्कों के भाव आज भी टिके ही रहे। सिक्का (लिवाल) 74 हजार रुपये तथा सिक्का (बिकवाल) 75 हजार रुपये प्रति सैकड़ा पर पूर्ववत रहा।

सोमवार (चार सितंबर) को सोने की कीमत 30,600 रुपये प्रति 10 ग्राम रही थी जो कि इस साल की सबसे अधिक कीमत है। साल की शुरुआत में प्रति 10 ग्राम सोने की कीमत करीब 28 हजार रुपये थी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में बढ़ी कीमतें और घरेलू बाजार में अधिक मांग के अलावा सोने का भाव बढ़ने के पीछे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर राजनीतिक तनाव भी एक बड़ा कारण है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग